राज्यसभा में नेता के चयन को लेकर सपा में मंथन जारी
बेनी प्रसाद वर्मा भी राज्यसभा में सपा के नेता बनने के लिए पूरी ताकत लगाए हुए हैं।


लखनऊ : उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी (सपा) से प्रो. रामगोपाल यादव के निष्कासन के बाद अब सपा के भीतर 16 नवम्बर से शुरू हो रहे संसदीय सत्र से पहले राज्यसभा में सपा का नेता कौन होगा? इसे लेकर चर्चा जारी है। सूत्रों के मुताबिक जो नाम उभरकर सामने आए हैं उनमें वरिष्ठ सपा नेता कुंवर रेवतीरमण सिंह और नरेश अग्रवाल के नाम शामिल हैं। समाजवादी पार्टी के एक पूर्व सांसद ने बताया कि पिछले कई वर्षों से राज्यसभा में सपा के नेता प्रो.रामगोपाल ही थे, लेकिन अब उनके निष्कासन के बाद नए नामों पर मंथन शुरू हो गया है। रामगोपाल के अलावा राज्यसभा में सपा के जो बड़े नाम हैं, 

उनमें कुंवर रेवती रमण सिंह, नरेश अग्रवाल व बेनी प्रसाद वर्मा के नाम शामिल हैं। एक सांसद ने कहा कि इन तीनों के अलावा अमर सिंह भी में चर्चा में हैं। हालांकि मुलायम का अमर प्रेम जगजाहिर है, लेकिन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने पिछले दिनों जिस अंदाज में उनका विरोध किया, उससे उनके राज्यसभा में नेता बनने की संभावना काफी कम है। सूत्रों की मानें तो रेवती रमण के अलावा सपा नरेश अग्रवाल पर भी दांव लगा सकती है।

सपा सूत्रों के अनुसार, बेनी प्रसाद वर्मा भी राज्यसभा में सपा के नेता बनने के लिए पूरी ताकत लगाए हुए हैं। इनके अलावा पश्चिमी उप्र के कुछ सांसद भी प्रयासरत हैं। ज्ञात रहे कि लोकसभा व राज्यसभा का शीतकालीन सत्र 16 नवंबर से शुरू होकर 13 दिसंबर तक चलेगा। इससे पहले सपा को राज्यसभा में अपना नेता चुनना होगा। इसलिए राज्यसभा में सपा के नेता बनने के लिए मुलायम के दरबार में सांसदों की पैरवी शुरू हो गई है। इसके अलावा सपा सुप्रीमों मुयायम सिंह यादव की 23 नवम्बर, 2016 को गाजीपुर में होने वाली रैली को लेकर सपा के प्रदेश मुख्यालय पर शुक्रवार को बैठकें हुई। जिसमें पूर्वांचल के वाराणसी, भदोही, चन्दौली, जौनपुर, बलिया, मऊ, आजमगढ़ समेत कई जनपदों के जिलाध्यक्षांे व महानगर अध्यक्षों को बुलाया गया है। 



अधिक राज्य की खबरें