फर्जी पुलिस ने उतरवाए महिला के गहने
फर्जी पुलिस


लखनऊ। एसएसपी कलानिधि नैथानी टप्पेबाजी की घटनाओं पर रोकथाम लगा पाने मे अभी तक कामयाब नही हो पाए है। राजधानी के विभिन्न थाना क्षेत्रो मे धूमधूम कर टप्पेबाज भोले भाले लोगो को अपना शिकार बना रहे है और पुलिस हर घटना के बाद मुकदमा दर्ज कर टप्पेबाजो की तलाश मे जुट जाती है लेकिन टप्पेबाज एक के बाद एक टप्पेबाजी की घटना को अन्जाम दे रहे है। राजधानी लखनऊ मे पुलिस के भेंश मे सक्रिय टप्पेबाजो के निशाने पर कई थाना क्षेना क्षेत्र है। सादे कपड़ो मे पुलिस के वेश मे आए दो टप्पेबाजो ने आज फिर एक महिला को पुलिस की चेंकिंग का भय दिखा कर जेवरात उतरवा लिए टप्पेबाजो ने अपने आपको पुलिस कर्मी बताया और आगे एक महिला की हत्या हो जाने की बात कह कर पुलिस चेकिंग का हवाला देकर महिला के शरीर से जेवर उतरवाए और हाथ की सफाई के हुनर से जेवर पार कर दिए। टप्पेबाजी का शिकार हुई महिला ने गाजीपुर थाने मे मुकदमा दर्ज कराया है पुलिस अब सीसीटीवी फुटेज की जाॅच कर रही है। जानकारी के अनुसार अकबर नगर महानगर मे रहने अपने दो बच्चो के साथ रहने वाली सायरा बानो गाजीपुर थाना क्षेत्र के कैलाशकुंज के सामने भूतनाथ के पास एक घर मे खाना बनाने का काम करती है। सायरा बानो के पति गफ्फार का निधन हो चुका है। सायरा बानो रोज की तरह सोमवार को भी अपने घर से खाना बनाने के लिए गई थी काम समाप्त करने के बाद वो पैदल अपने घर जा रही थी तभी आईडीबीआई बैंक के पास सायरा बानो को मोटर साईकिल सवार दो लोगो ने रोक कर अपने आपको पुलिस कर्मी बताया और कहा कि आगे एक महिला का मर्डर हो गया है इस लिए पुलिस चेकिंग चल रही है आप अपने गहने उतार कर पर्स मे रख लीजिए । फर्जी पुलिस कर्मियो के झांसे मे आई सायरा बानो ने अपने गले की चेन कान की झुमकी और अंगूठी उतारी तभी एक टप्पेबाज ने उनसे उनके जेवर लेकर कागज की पुड़िया मे रख कर उन्हे थमा दिए और रफू चक्कर हो गए। सायरा बानो ने जब अपने घर जा कर कागज की पुड़िया खेली तो उसमे से उनके जेवर गायब थे और कागज की पुड़िया मे कंकड़ रख्खे हुए थे। टप्पेबाजो द्वारा ठगी गई सायरा बानो ने गाजीपुर थाने पहुॅच कर घटना की जानकारी दी तो पुलिस ने जाॅच के बाद मुकदमा दर्ज कर लिया। इन्स्पेक्टर गाजीपुर ने बताया कि टप्पेबाज पुलिस की वर्दी नही पहने थे बल्कि उन्होने अपने आपको पुलिस कर्मी बताया था उन्होने बताया कि मुकदमा दर्ज कर लिया गया है घटना स्थल के आस-पास लगे सीसीटीवी कैमरो की फुटेज की जाॅच की जाएगी उन्होने बताया कि अभी तक किसी भी सीसीटीवी कैमरे मे टप्पेबाज नजर नही आए है। हैरत की बात ये है कि इस तरह से होने वाली टप्पेबाजी की घटनाओ की खबरे समाचार पत्रो मे पढ़ने के बावजूद आम जनता बिलकुल जागरूक नही हो रही है जनता अगर जागरूक हो जाए तो इस तरह की घटनाए रूकना कोई कठिन काम नही है। 


अधिक राज्य की खबरें

पॉलिटेक्निक प्रवेश परीक्षा : गणित व फिजिक्स के प्रश्नों ने अभ्यर्थियों को उलझाया..

प्रदेश के राजकीय, सहायता प्राप्त व प्राइवेट पॉलिटेक्निक में दाखिले के लिए छात्र-छात्राओं ने परीक्षा में हिस्सा ... ...