अयोध्या में मुख्यमंत्री, दलित के घर भोजन, संतों के साथ बाॅतचीत बिना बोले बड़ा प्रचार
मेवालाल के घर सब्जी-रोटी


अयोध्या। कहते है बोलने से ही बल्कि आॅखों की पुतलियों एवं अपने हावभाव से लोगों को आकृषित किया जा सकता है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर चुनाव आयोग ने 72 घन्टे भाषण न देने पर रोक लगाई है। इसके बावजूद आज अयोध्या पहुचे योगी ने बिना बोले ही बड़ा प्रचार कर डाला।  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मंगलवार को लखनऊ में बजरंग बली के दर्शन-पूजन करने के बाद बुधवार को रामनगरी (अयोध्या) पहुंचे। सबसे पहले मुख्यमंत्री ने दलित बस्ती का दौरा किया। यहां पीएम आवास योजना के लाभार्थी मेवालाल के घर पहुंचे और वहां भोजन किया। भोजन में उन्होंने सब्जी-रोटी खाई। इसके बाद सीएम योगी अपने काफिले के साथ सुग्रीव किला पहुंचे। यहां उन्होंने दिवंगत सुग्रीव किलाधीश स्वामी पुरुषोत्तमाचार्य को श्रद्धांजलि दी। धीरे-धीरे सीएम का काफिला हनुमानगढ़ी पहुंचा। यहां उन्होंने हनुमान चालीसा पढ़ने के साथ साधु संतों से मुलाकात की। इसके बाद मुख्यमंत्री रामलला के दर्शन किया और फिर सरयू पूजन किया।
दौरे के दौरान मुख्यमंत्री ने पीएम आवास योजना के लाभार्थी मेवालाल के घर पहुंचे। यहां उन्होंने सब्जी-रोटी खाई। इस दौरान उन्होंने घर के बाकी सदस्यों से मुलाकात की और पूछा कि पीएम आवास योजना में किसी ने पैसे की मांग तो नहीं कि। उन्होंने परिवार को आस्वस्थ किया कि कोई समस्या होने पर उनसे बताएं। 
इससे पहले उन्होंने महंत नृत्यगोपालदास से मुलाकात की है। वह अशर्फी भवन भी गए और वहां श्रीधराचार्य से मिले। अभी योगी दिगंबर अखाड़ा में हैं। यहां वह जलपान करेंगे। इस दौरान अखाड़ा के महंत सुरेशदास भी मौजूद रहे। 
बता दें, संत समाज से मुलाकात करने के अलावा बलरामपुर और अयोध्या मंडल के पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ बैठक करेंगे। आम चुनाव की घोषणा होने के बाद उनकी अयोध्या की पहली यात्रा है। इसी दिन वह देवी दर्शन के लिए देवीपाटन (बलरामपुर) भी जा सकते हैं। बहुत संभव है कि वह रात्रि विश्राम भी वहीं करें।रामनगरी रवाना होने से पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बुधवार सुबह लखनऊ में मोहान रोड पर स्थित स्पर्श बालिका इंटर कॉलेज पहुंचे। यहां दृष्टिबाधित बालिकाओं से मुलाकात की। इस दौरान बच्चों ने उन्हें भजन सुनाया। मेरठ की रैली में योगी ने कहा था कि अगर सपा-बसपा गठबंधन को अली पर भरोसा है तो हमें बजरंग बली पर। इस टिप्पणी पर चुनाव आयोग ने उनके चुनाव प्रचार पर 72 घंटे के लिए रोक लगा दी है। इस दौरान के कार्यक्रम निरस्त होने के बाद योगी ने मंगलवार को लखनऊ में बजरंगबली के दर पर मत्था टेका। आवास पर दिन भर कार्यकर्ताओं से मिलते रहे।


अधिक राज्य की खबरें