सर्वसमाज को जोड़ने वाले नेता मुलायम सिह यादव: मायावती
माया और मुलायम ने एक दूसरे की जमकर तरीफ की


माया और मुलायम ने एक दूसरे की जमकर तरीफ की
जीएनएस
मैनपुरी। मैनपुरी में जब मंच पर 24 साल में पहली बार मुलायम सिंह यादव और बसपा सुप्रीमो मायावती एक साथ नजर आए तो पूरा देश यह सुनना चाह रहा था कि वह क्या बोलते हैं। इस दौरान पहले मुलायम सिंह यादव ने बीएसपी अध्यक्ष की जमकर तारीफ की और लोगों से यह कहा कि जब भी जरूरत पड़ी है उन्होंने हमेशा साथ दिया है।
इसके बाद मंच पर रैली को संबोधित करने आयी मायावती ने मुलायम की तारीफ में कोई कसर नहीं छोड़ी। मायावती ने कहा- “इसमें कोई संदेह नहीं कि इन्होंने (मुलायम) एसपी के बैनर तले उत्तर प्रदेश में सभी समाज के लोगों को अपनी पार्टी में जोड़ा। यह नकली और फर्जी पिछड़े वर्ग के नहीं हैं, मुलायम जी असली हैं। जन्मजात पिछड़े वर्ग के हैं।”मैनपुरी में जब मंच पर 24 साल में पहली बार मुलायम सिंह यादव और बसपा सुप्रीमो मायावती एक साथ नजर आए तो पूरा देश यह सुनना चाह रहा था कि वह क्या बोलते हैं। इस दौरान पहले मुलायम सिंह यादव ने बीएसपी अध्यक्ष की मायावती मंच से जिस दौरान मुलायम की तारीफ कर रही थी उधर मुलायम सिंह यादव अपनी तारीफ और मायावती की बातों को सुनकर ताली बजा रहे थे।उन्होंने कहा कि वर्तमान परिस्थिति को देखते हुए गेस्ट हाउस कांड को भुलाया है। भाजपा को सत्ता में आने से रोकने के लिए यह जरूरी था। उन्होंने कहा कांग्रेस गलत नीतियों के कारण सत्ता से बाहर हो गई। भाजपा भी गलत नीतियों के कारण सत्ता से बाहर चली जाएगी। माया ने कहा कि मोदी ने सौ दिन में कालाधन वापस लाकर प्रत्येक व्यक्ति को 15 से 20 लाख रुपये अर्थिक मदद देने का वायदा किया था, लेकिन किसी को आर्थिक मदद नहीं मिली। यह प्रलोभन सत्ता में आने के लिए दिया गया था। इस बार जनता कांग्रेस और भाजपा के बहकावे में नहीं आएगी। इससे पहले सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने अपने संबोधन में बसपा सुप्रीमो का आभार जताया। उन्होंने कहा कि मायावती हमारे लिए वोट मांगने आईँ हैं। हम उनका अभिनंदन करते हैं। आपके इस एहसान को कभी नहीं भूलूंगा।उन्होंने सपा कार्यकर्ताओं से कहा कि वह भी उनका सम्मान करें। उन्होंने कहा कि सांसद बनने के बाद वो उनका असली सम्मान करेंगे। उन्होंने अपनी जीत के लिए भी जनता से अपील की। उन्होंने कहा कि यह मेरा आखिरी चुनाव है। हर बार मैनपुरी के लोग हमें जिताते आए हैं। आखिरी चुनाव में भारी बहुमत से जिताना।सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा यह मैनपुरी के लिए ऐतिहासिक क्षण है। क्यों कि बसपा की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने नेताजी को जिताने की अपील की है। उन्होंने कहा कि मायावती हमारे बीच आई हैं, वो उनका आदर करते हैं। 


अधिक राज्य की खबरें