वन रक्षक मामले में परिषद के पत्र पर कार्रवाई निर्देश
मुख्य सचिव डा. अनुप चन्द पाण्डेय


लखनऊ। प्रदेश के मुख्य सचिव डा. अनुप चन्द पाण्डेय ने गत दिवस माॅची रेंज सोनभद्र में शहीद हुए वन रक्षक के बारे में परिषद के पत्र का संज्ञान लेते हुए प्रमुख सचिव वन को तत्काल कार्रवाई के निर्देश दिये है। मुख्य सचिव ने वन विभाग में वनरक्षकों के काफी रिक्त पदों का भी संदर्भ लिया है। 
राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के मीडिया प्रभारी मनोज श्रीवास्तव ने बताया कि परिषद के अध्यक्ष हरिकिशोर तिवारी द्वारा 15 मार्च 19 को खनन और वन माफियाओं द्वारा माॅची रेंज सोनभद्र के वन रक्षक मोहन राम मौर्या की उस दौरान हत्या किये जाने जब वे अवैध खनन से युक्त ट्रेक्टर ट्राॅली वन चैकी ले जा रहे थे। इस घटना पर आक्रोश जताते हुए परिषद द्वार मुख्य सचिव को यह भी अवगत कराया गया था कि इसी प्रकार की एक घटना दुधवा टाइगर रिजर्व में 19 अक्टूबर 18 को हो चुकी है। परिषद ने इस बाॅत पर भी चिन्ता व्यक्त की थी कि प्रदेश में वन रक्षक के स्वीकृत पदों के सापेक्ष 40 प्रतिशत पद रिक्त है जिसके कारण वन रक्षकों पर काम का भारी दबाव और तनाव है। इस मामले में मुख्य सचिव ने गम्भीरता से विचार करते हुए प्रमुख सचिव वन को कार्रवाई के निर्देश दिये है। 


अधिक राज्य की खबरें