योगी आदित्यनाथ बुन्देलखण्ड में बोले चुनाव बाद लापरवाहों पर चलेगा डण्डा
सीएम ने मंगलवार को बुंदेलखंड के ललितपुर व महोबा में जनसभा


जीएनएस
लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सपा-बसपा और कांग्रेस के पास न नेता है, न नीति है, न नेतृत्व है और न नेक नीयत ही है। सीएम ने मंगलवार को बुंदेलखंड के ललितपुर व महोबा में जनसभा की। इसके अलावा वह पुखरायां व उन्नाव भी गए। “बड़े लड़इया महोबे वाले, जिनकी मार सही ना जाय, एक का मारें दुइ मर जाएं, तीसर खौफ खाए मर जाए”, सीएम योगी ने इस कहावत की चर्चा करते हुए कहा , अपने वोट से एक चोट गठबंधन पर तो दूसरी कांग्रेस पर मारिये, बाकी जितने नेता होंगे अपने आप आपके भय से मैदान छोड़ भाग खड़े होंगे। उन्होंने कहा कि कमल का बटन यहां दबेगा और प्रधानमंत्री जी को समर्थन दिल्ली में मिलेगा। सीएम योगी ने अधिकारियों को चेतवानी भी दी और कहा कि चुनाव के बाद मैं फिर समीक्षा करने जाऊंगा और जहां भी लापरवाही दिखेगी, वहां अब डंडे चलने भी प्रारंभ होंगे। उन्होंने आगे यह भी कहा कि मैंने पहले ही घोषणा की है कि प्रदेश के नौजवानों के भविष्य के साथ कोई भी अधिकारी या कर्मचारी खिलवाड़ करेगा तो उसकी जगह जेल होगी और उसकी संपत्ति भी जब्त होगी। सीएम योगी ने सपा-बसपा को आड़े हाथ लेते हुए सवाल भी किया। उन्होंने कहा कि क्या सपा-बसपा की सरकार में बुंदेलखंड को बिजली मिलती थी? उन्होंने सपा-बसपा पर तंज कसते हुए कहा कि चांदनी रात चोरों को अच्छी नहीं लगती। प्रदेश के संसाधनों पर डकैती डालने में कोई मुश्किल न आए इसलिए यह लोग बिजली नहीं देते थे। हम पर्याप्त बिजली दे रहे हैं। प्रदेश में हमने एक करोड़ घरों को निशुल्क बिजली उपलब्ध कराई है। उन्होंने कहा कि यह कोई महरबानी नहीं है, बिजली आपका अधिकार है, क्योंकि आप टैक्स देते हैं। उस टैक्स पर डकैती न डलने देना हमारा दायित्व है और हमने इस धर्म का निर्वहन किया है। सीएम ने विरोधियों पर हमला करते हुए कहा कि वहां तो एक ही स्लोगन है “मेरा वैभव अमर रहे मां, तुम दिन चार रहो ना रहो”, इसी को लेकर सपा-बसपा और कांग्रेस चल रही है। एक व्यक्ति, एक परिवार तक सीमित रहकर इस देश की 130 करोड़ जनता के जीवन के साथ खिलवाड़ करने वाले इन राजनीतिक दलों को सबक सिखाने का सबसे अच्छा अवसर है। उन्होंने कहा कि बहन जी का तो घोषणा पत्र ही नहीं होता। वहां पर तो बोलियां लगती है। बहन जी को जनकल्याण से कोई लेना-देना नहीं है, उनको तो बस अपने कल्याण से मतलब है।विपक्ष ने मुझ पर बजरंगबली का नाम लेने के कारण रोक लगवा दी सीएम योगी ने कहा कि विपक्ष ने मुझ पर बजरंगबली का नाम लेने के कारण रोक लगवा दी थी। रोक के दौरान मैने जगह-जगह बजरंगबली के मंदिरों में जाकर आशिर्वाद प्राप्त किया। उन्होंने हनुमान चालिसा की एक पंक्ति दोहराते हुए कहा कि “भूत पिशाच निकट नहीं आवें, महावीर जब नाम सुनावें” और ऐसा हो भी गया। सभी जातिवाद, विपक्ष का गठबंधन, भ्रष्टाचार, अराजकता संबंधित सारी बाधाएं बजरंगबली की कृपा से छूमंतर हो गईं। उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल में इस बार भाजपा 30 से अधिक सीटों पर भाजपा जीत दर्ज करेगी।बुंदेलखंड को कई सौगात सीएम योगी ने कहा कि बुंदेलखंड के विकास और नौजवानों को रोजगार देने का काम हम करने जा रहे हैं। बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे का निर्माण भी उसी की एक कड़ी है। आजादी के बाद पहली बार किसी प्रधानमंत्री ने समस्त बुंदेलखंड को ध्यान में रखते हुए 9000 करोड़ रुपए की पाईप पेयजल योजना की सौगात दी। मोदी जी के प्रयासों से डिफेंस कॉरिडोर का निर्माण भी होने जा रहा है।


अधिक राज्य की खबरें