बसों में ज्वलनशील पदार्थ परिवहन पर होगी कड़ी कार्रवाई: धीरज साहू
उ.प्र. परिवहन निगम के प्रबन्ध निदेशक धीरज साहू


लखनऊ। उत्तर प्रदेश परिवहन निगम की बसों में ज्वलनशील पदार्थो की रोक-थाम के लिए उ.प्र. परिवहन निगम के प्रबन्ध निदेशक  धीरज साहू  ने समस्त क्षेत्रीय प्रबन्धक/सेवा प्रबन्धक एवं समस्त सहायक क्षेत्रीय प्रबन्धक डिपोज, को निर्देशित किया कि किसी भी प्रकार का ज्वलनशील पदार्थ लेकर निगम बस सेवाओं में यात्रियों को यात्रा न कराया जाय ताकि जनमानस की सुरक्षा के साथ-साथ किसी भी अप्रिय घटना से बचा जा सके। ज्वलनशील पदार्थो को निगम बसों में ले जाना अवैध एवं पूर्ण प्रतिबन्धित है किन्तु उक्त तथ्यों से स्पष्ट है कि आप द्वारा मुख्यालय से निर्गत दिशा-निर्देशों का अनुपालन नहीं किया जा रहा है, जो मुख्यालय के आदेशों का उलंघन है। और आपके शिथिल नियंत्रण का घोतक है। ऐसी घटनाओं से जहां एक ओर निगम को जनहानिध्धनहानि का सामना  करना पड़ता है वहीं दूसरी ओर जनसामान्य में निगम की छवि धूमिल होती है। 
प्रबन्ध निदेशक द्वारा निर्देश दिये कि आप अपने क्षेत्र की समस्त बसों मे अंकित करा दें कि ‘‘ज्वलनशील पदार्थो के साथ यात्रा करना पूर्णतया वर्जित है‘‘ साथ ही समस्त चालकों परिचालकों को कहा गया हैै कि किसी भी यात्री को निगम बस में ज्वलनशील पदार्थ लेकर यात्रा न करायें। यदि चेकिंग के दौरान बस में किसी भी प्रकार का ज्वलनशील पदार्थ पाया जाता है तो इस हेतु सम्बन्धित बस के क्रू के साथ ही क्षेत्रीय प्रबन्धकध्सहायक क्षेत्रीय प्रबन्धक पूर्ण रूप से उत्तरादायी होगे। इसी क्रम में सेवा प्रबन्धकध्सहायक क्षेत्रीय प्रबन्धक (डिपो), सीनियर व जूनियर फोरमैन को यह निर्देश दिये जाते है  कि वे डिपो/कार्यशाला से किसी भी सेवा (बस) को मार्ग पर भेजने से पूर्व उसकी भौतिक एवं यांत्रिक दशा का परीक्षण कर/करा लें तथा संतुष्ट होने के उपरान्त ही बसों को मार्ग पर भेजा जाय, ताकि मार्ग पर यात्रियों  को यात्रा के दौरान किसी प्रकार की असुविधा का सामना न करना पडेघ्। मार्ग पर संचालित सेवा में यांत्रिक खराबी आने पर सम्बन्धित अधिकारी के विरूद्ध कठोर कार्यवाही की जायेगी।  


अधिक राज्य की खबरें