प्रधानमंत्री को वाराणसी की जनता ने नकारने का मन बना लिया	ः सिराज मेंहदी
पूर्व एम.एल.सी. हाजी सिराज मेंहदी


लखनऊ। उ.प्र. कॉग्रेस  कमेटी के उपाध्यक्ष एवं पूर्व एम.एल.सी. हाजी सिराज मेंहदी ने वाराणसी में आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नामांकन में पूरे देश भर से भाजपा के गठबंधन दलों के नेताओं और कार्यकर्ताओं को वाराणसी बुलाकर भारी भीड़ दिखाने का उपक्रम किये जाने पर कहा है कि पांच वर्ष तक सिर्फ जुमलेबाजी करने वाले प्रधानमंत्री को वाराणसी की सम्मानित जनता ने इस बार नकारने का मन बना लिया है जिसकी डर से उन्होने पूरे देश से भारी-भरकम धन खर्च कर लोगों को एकत्र करके अपनी ताकत दिखाने का दिखावा किया है किन्तु सच्चाई ठीक इसके विपरीत है। जनता अब मोदी जी के बहकावे में आने वाली नहीं है। श्री मेंहदी ने कहा कि जिस प्रकार प्रधानमंत्री और भाजपा के नेता गिरिराज सिंह लगातार अपने भाषणों में न सिर्फ विपक्षी दलों के नेताओं के लिए बल्कि चुनाव आचार संहिता की धज्जियां उड़ाते हुए चुनाव आयोग के दिशा-निर्देश के विपरीत बयानबाजी कर रहे हैं और चुनाव आयोग कोई कार्यवाही नहीं कर रहा है इससे ऐसा प्रतीत होता है कि शायद चुनाव आयोग ने प्रधानमंत्री सहित गिरिराज सिंह और अन्य भाजपा के बड़े नेताओं को छूट दे रखी है। श्री मेंहदी ने चुनाव आयोग से मांग की है कि चुनाव आचार संहिता का घोर उल्लंघन करने वाले इन भाजपा नेताओं के विरूद्ध सख्त कार्यवाही करे ताकि लोकतंत्र में चुनाव आयेाग की न सिर्फ विश्वसनीयता बनी रहे बल्कि स्वतंत्र एवं निष्पक्ष चुनाव हो सके। श्री मेंहदी ने कहा कि 2019 के इस लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी और इनके शीर्ष नेताओं में अभी से ही हारने का भय व्याप्त हो गया है यही कारण है कि आज वाराणसी में प्रधानमंत्री जी को अपने नामांकन एवं रोड शो से पूरे देश से भाजपा के नेताओं और कार्यकर्ताओं को वाराणसी बुलाना पड़ा है। इसके बावजूद टी.वी. चैनलों में सड़कें खाली दिखाई दे रही हैं। श्री मेंहदी ने कहा कि राहुल और प्रियंका की रैलियों एवं रोड-शो मंे अपार भीड़ उमड़ने से यह साबित हो रहा है कि पूरे देश में कांग्रेस पार्टी के पक्ष में बयार बह रही है और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के पक्ष में देश और प्रदेश की जनता लामबन्द हो चुकी है। 



अधिक राज्य की खबरें