मायावती ने का ट्वीट, वाराणसी में मोदी की जीत से ज्यादा उनकी हार ऐतिहासिक नहीं होगी?
मायावती ने शनिवार को ट्वीट किया कि प्रधानमंत्री मोदी का गुजरात माडल यूपी के पूर्वांचल की भी अति-गरीबी, बेरोजगारी व पिछड़ेपन को दूर करने में थोड़ा भी सफल नहीं हो सका, जो घोर वादाखिलाफी है।


लखनऊ, (हि.स.)। बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमो मायावती ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर एक बार फिर निशाना साधा है। उन्होंने रविवार को अंतिम चरण में होने वाले मतदान को लेकर कहा है कि प्रधानमंत्री की जीत से ज्यादा वाराणसी में उनकी हार ऐतिहासिक नहीं होगी? 

मायावती ने शनिवार को ट्वीट किया कि प्रधानमंत्री मोदी का गुजरात माडल यूपी के पूर्वांचल की भी अति-गरीबी, बेरोजगारी व पिछड़ेपन को दूर करने में थोड़ा भी सफल नहीं हो सका, जो घोर वादाखिलाफी है। मायावती ने कहा कि मोदी-योगी की डबल इंजन वाली सरकार ने विकास के बजाए केवल जाति व साम्प्रदायिक उन्माद, घृणा व हिंसा ही देश को दिया है, जो अति-दुःखद है।

उन्होंने कहा कि पूर्वांचल के साथ यह वादाखिलाफी व विश्वासघात तब हुआ है जब प्रधानमंत्री व उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री इसी क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते हैं। उन्होंने कहा कि योगी को तो गोरखपुर ने ठुकरा दिया है तो क्या ऐसे में प्रधानमंत्री मोदी की जीत से ज्यादा वाराणसी में उनकी हार ऐतिहासिक नहीं होगी? क्या वाराणसी 1977 का रायबरेली दोहराएगा?

गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव के सातवें व अंतिम चरण में प्रदेश की 13 सीटों पर कल रविवार को मतदान होगा। चुनाव के अंतिम चरण में प्रदेश की महराजगंज, गोरखपुर, बांसगांव, घोसी, कुशीनगर, देवरिया, सलेमपुर, वाराणसी, बलिया, गाजीपुर, चंदौली, राबर्ट्सगंज और मीरजापुर संसदीय क्षेत्रों में मतदान होना है। 

इस चरण में वाराणसी से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गाजीपुर से केंद्रीय मंत्री मनोज सिन्हा, मीरजापुर लोकसभा सीट से केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अनुप्रिया पटेल, चंदौली से भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय और कुशीनगर से कांग्रेस उम्मीदवार और पूर्व केंद्रीय राज्य मंत्री आरपीएन सिंह समेत कई दिग्गजों की किस्मत दांव पर लगी है। 


अधिक राज्य की खबरें