चंदौली में ग्रामीणों का रुपये देकर जबरन उंगली में स्याही लगवाने का आरोप
तीन लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज


चंदौली, (हि.स.)। लोकसभा चुनाव के सातवें व अंतिम चरण में आज जनपद में मतदान जारी है। इस बीच एक गांव में रुपये देकर रात में ही लोगों की उंगलियों पर मतदान की स्याही लगाने का आरोप भाजपा समर्थक व पूर्व प्रधान पर लगा है। इस मामले में कार्रवाई को लेकर गठबंधन समर्थकों ने अलीनगर थाने पर धरना भी दिया। पुलिस के मुकदमा दर्ज करने के बाद वह शान्त हुए। वहीं प्रशासन ने सभी लोगों को अन्य मतदाताओं की तरह मतदान की अनुमति देने की बात कही है।  

मामला चंदौली के अलीनगर थाना क्षेत्र के ताराजीवनपुर गांव की हरिजन बस्ती का है, जहां के पांच ग्रामीणों ने आरोप लगाया है कि गांव के निवासियों ने जबरदस्ती उनकी उंगलियों पर स्याही का निशान लगाया। इसके एवज में उन्होंने पांच-पांच सौ रुपये दिये। ग्रामीणों का कहना है कि उंगली पर स्याही लगाने लोगों ने कहा कि क्या आप लोग भाजपा को वोट देंगे। अब तो आप लोग वोट नहीं दे सकते। यह बात किसी को भी बताना नहीं। अन्य ग्रामीणों को जब इस बात की जानकारी हुई तो सभी लोग हंगामा करने लगे।

इसकी जानकारी मिलते ही मौके पर सीओ सदर त्रिपुरारी पांडे, सीईओ सकलडीहा प्रदीप सिंह चंदेल व थाना प्रभारी अलीनगर अश्वनी चतुर्वेदी मौके पर पहुंचे। अधिकारियों ने मामले में तत्काल मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई का आश्वासन दिया, तब जाकर ग्रामीण शांत हुए है। वहीं इसकी जानकारी होने पर गठबंधन उम्मीदवार डॉक्टर संजय चौहान, सकलडीहा विधायक प्रभु नारायण सिंह यादव कार्रवाई की मांग को लेकर समर्थकों के साथ अलीनगर थाने पर धरने पर बैठ गये। पुलिस द्वारा तीन लोगों पर मुकदमा दर्ज करने के बाद उन्होंने धरना समाप्त किया। 

इस सम्बन्ध में एसडीएम केआर हर्ष ने बताया कि शिकायतकर्ताओं के बयान को दर्ज कर लिया गया है, उसके आधार पर कार्रवाई करेंगे। सभी ग्रामीण मतदान करने के लिए योग्य है, क्योंकि चुनाव तब शुरु नहीं हुआ था। सिर्फ उंगली या फिर अंगूठे पर स्याही लगने से मतदान नहीं हो जाता है। अपनी शिकायत में लोगों को यह लिखना होगा कि उनकी उंगलियों पर जबरन स्याही लगाई गई है। 


अधिक राज्य की खबरें