उपेंद्र कुशवाहा ने दी धमकी, लोकतंत्र की रक्षा के लिए हथियार भी उठा सकते हैं
कुशवाहा ने धमकी देते हुए कहा कि वोट की रक्षा के लिए जरूरत पड़ी तो हथियार भी उठाना चाहिए.


पटना: मतगणना से पहले, RLSP प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा का विवादास्पद बयान सामने आया है. कुशवाहा ने धमकी देते हुए कहा कि वोट की रक्षा के लिए जरूरत पड़ी तो हथियार भी उठाना चाहिए. उन्होंने यह बयान महागठबंधन द्वारा पटना में आयोजित प्रेंस कॉन्फ्रेंस में दिया. 

कुशवाहा ने बीजेपी पर हमला बोलते कहा कि चुनाव जीतने के लिए सारे कर्म किए हैं. हर तरह के हथकंडे अपनाए हैं. कुशवाहा ने आगे कहा, "एक्जिट पोल भी उसी रणनीति का हिस्सा है जिसे मैं सिरे से खारिज करता हूं. हिंदुस्तान में पहली बार रिजल्ट लूट किया जा रहा है. बीजेपी का कुछ भी नहीं चलने वाला है. महागठबंधन की बढ़त है और महागठबंधन बिहार में जीत रहा है. जनता के बीच बीजेपी के खिलाफ आक्रोश है. लोगों का आक्रोश है और सड़कों पर खून बहेगा. 

काराकाट और उजियारपुर से चुनाव लड़ रहे कुशवाहा ने कहा, "प्रसाशन को आगाह करता हूं. महागठबंधन के कार्यकता मतगणना केंद्र के आसपास रहे. ईवीएम मिलने की खबर बहुत जगह से आ रही है. जनता चुप नहीं बैठेगी. जननायक कर्पूरी के समय बूथ लूट की घटना होती रही है. कर्पूरी जी कहते थे बूथ लूट को बचाने के लिए हथियार भी उठाने पड़े तो उठाना चाहिए." 

महागठबंधन की प्रेस कॉन्फ्रेंस में तेजस्वी यादव, जीतनराम मांझी शामिल नहीं हुए. वीआईपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुकेश सहनी, रामचंद्र पूर्वे, कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा शामिल हुए. रामचंद्र पूर्वे ने कहा कि एक्जिट पोल के द्वारा भरम फैलाया जा रहा है.

कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा ने कहा, "बीजेपी के मन मे खोट है तो एक्जिट पोल को प्रसारित किया जाता है. EVM जहा रखा गया है, वहां कार्यकर्ता रहे. एक्जिट पोल हमेसा गलत हुआ है." हम पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष बीएल बैसन्त्री ने कहा कि 25 सीट पर एनडीए हमें हरा ही नहीं सकता है, जीतन राम मांझी चुनाव जीत रहे हैं. 


अधिक देश की खबरें