अलीगढ़ में मासूम की हत्या के दोषियों को सलाखों के पीछे भेजे सरकार-मायावती
मायावती ने एक अन्य मामले को लेकर कहा कि उत्तर प्रदेश में गुरुवार रात तेज आंधी, बारिश व ओलावृष्टि के कारण जान-माल की व्यापक हानि अति-दुःखद है।


लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने अलीगढ़ में मासूम बच्ची के साथ नृशंस व्यवहार व हत्या को बेहद शर्मनाक और दु:खद बताया है। 

मायावती ने शुक्रवार को कहा कि प्रदेश सरकार को तुरन्त ही कानून का राज स्थापित करने के लिए दो साल की बच्ची की नृशंस हत्या के दोषियों को सलाखों के पीछे भेजना चाहिए। 

मायावती ने एक अन्य मामले को लेकर कहा कि उत्तर प्रदेश में गुरुवार रात तेज आंधी, बारिश व ओलावृष्टि के कारण जान-माल की व्यापक हानि अति-दुःखद है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार तुरन्त ही पूरी संवेदनशीलता के साथ सक्रिय होकर सभी पीड़ित परिवारों को आर्थिक सहायता व राहत आदि देने के लिए आगे आना चाहिए।

इसके साथ ही बसपा सुप्रीमो ने ’नीट’ का इम्तिहान पास करने वाले सभी मेधावियों को बधाई दी है। उन्होंने कहा कि अपना भारत भीषण गरीबी व बेरोजगारी एवं सरकारी उदासीनता आदि के कारण भारी कुपोषण व प्रदुषण से जुड़े अनेक प्रकार के जटिल रोगों से ग्रसित देश है। ऐसे में डाक्टरों की यहां हर स्तर पर भारी कमी देश को काफी ज्यादा खलती रहती है। इसीलिए ’नीट’ का इम्तिहान पास करने वाले सभी भविष्य के डॉक्टरों को हार्दिक बधाई व शुभकामनाएं दी है। 

उन्होंने कहा कि ’नीट’ की परीक्षा में प्रथम रैंक प्राप्त करने वाले राजस्थान के होनहार को खास बधाई। यूपी के भी नीट पास करने वाले सभी होनहारों को दिली मुबारकबाद। लेकिन  ’नीट’ परीक्षा में सफल नहीं होने पर तमिलनाडु के दो लोगों द्वारा आत्महत्या करना बड़ी दुःखद खबर है। मायावती ने सवाल उठाया कि तमिलनाडु आदि राज्यों की मांग पर ’नीट’ जारी रखने पर केन्द्र सरकार द्वारा क्या पुनर्विचार की जरूरत नहीं है?


अधिक राज्य की खबरें