नोटबंदी ने सभी विरोधियों को एक स्थान पर खड़ा कर दिया : अमित शाह
नोटबंदी के बाद विपक्षी पार्टियों के चेहरे मुरझाए हुए हैं।


भुवनेश्वर : नोटबंदी की बाढ ने सांप-नेबुला व बिल्ली-चूहे को एक कर दिया है। यही कारण है कि ममता बनर्जी, राहुल गांधी, अरविंद केजरीवाल, मुलायम सिंह यादव व अन्य राजनीतिक नेता एक स्थान पर इकट्ठा हुए हैं तथा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के निर्णय को कोस रहे हैं। लेकिन देश की आम जनता इस मामले में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ है। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने भाजपा प्रदेश इकाई द्वारा भुवनेश्वर के बरमुंडा मैदान में आयोजित जनजागरण महारैली को संबोधित करते हुए यह बात कही । 

श्री शाह ने कहा कि 7 तारीख तक विपक्ष प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से पूछ रहा था कि कालेधन को लेकर सरकार ने क्या किया है, लेकिन 9 तारीख के बाद विपक्ष पूछ रहा है यह क्यों किया है। विपक्षी पार्टियों का सवाल ही बदल गया है। नोटबंदी के बाद विपक्षी पार्टियों के चेहरे मुरझाए हुए हैं। उन्होंने कहा कि बाढ के बाद एक पेड़ पर सांप-नेवला, बिल्ली व चूहा इकट्ठा 
होते हैं, लेकिन कोई किसी को नुकसान नहीं पहुंचाता। सब बाढ के कम होने की प्रतीक्षा करते हैं। 

वर्तमान में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की नोट बंदी की बाढ़ से ममता बनर्जी, राहुल गांधी, अरविंद केजरीवाल, मुलायम सिंह यादव व अन्य राजनीतिक नेता एक स्थान पर इकट्ठा हुए हैं और प्रधानमंत्री के निर्णय का विरोध कर रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कालेधन को समाप्त करने के लिए यह प्रहार किया है । प्रधानमंत्री के इस निर्णय के साथ देश की आम जनता है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी सीमा की स्थिति को लेकर सवाल उठा रहे हैं ।

जब दिल्ली में मनमोहन सिंह की सरकार थी तब पाकिस्तानी भारतीय सेना पर हमला कर पाकिस्तान चले जाते थे । लेकिन अब मोदी सरकार में सेना को इसके खिलाफ कार्रवाई करने के लिए दिल्ली से आदेश लेने की आवश्यकता नहीं है । अब गोली का जवाब गोलों से दिया जा रहा है । श्री शाह ने कहा कि उरी में रात के अंधेरे में भारतीय़ जवानों को लड़ने का मौका न देकर जवानों को जिंदा जला दिया गया था। लेकिन क्योंकि अब मनमोहन सिंह की सरकार नहीं है इसलिए घुस कर भारतीय सेना ने इसका जवाब दिया है । 

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के रूप में नरेन्द्र मोदी के जिम्मेदारी लेने के बाद भारत का पूरे विश्व में सम्मान बढा है । पूरे विश्व में उनका स्वागत हो रहा है । यह सम्मान श्री मोदी का नहीं है बल्कि पूरे सवा सौ करोड़ देशवासियों का सम्मान है।


अधिक देश की खबरें