गेस्ट हाउस कांड : अखिलेश ने मायावती के इस फैसले का किया स्वागत, कहा- हमारे बीच कोई दुश्मनी नहीं
लोकसभा चुनाव में सपा-बसपा गठबंधन के खराब प्रदर्शन के बाद मायावती ने गठबंधन तोड़ दिया था.


लोकसभा चुनाव के बाद सपा-बसपा के बीच गठबंधन टूटा था
समाजवादी पार्टी के मुखिया और राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बसपा सुप्रीमो मायावती द्वारा गेस्ट हाउस कांड में पिता मुलायम सिंह यादव पर दर्ज मुकदमे को वापस लेने पर धन्यवाद दिया हैं और कहा कि यह फैसला स्वागत योग्य है.


मायावती के इस फैसले के बाद अखिलेश ने कहा कि कि हमारे बीच में कोई दुश्मनी नहीं है और उनका यह फैसला स्वागत करने योग्य है. मायावती के इस फैसले ने सबको असमंजस में डाल दिया था. 


बता दें कि लोकसभा चुनाव में सपा-बसपा गठबंधन के खराब प्रदर्शन के बाद मायावती ने गठबंधन तोड़ दिया था. अभी हाल ही में विधानसभा उपचुनाव में सपा और बसपा ने अलग-अलग चुनाव लड़े. जिसमे सपा को तीन सीटें मिलीं, किन्तु बसपा का  खाता तक नहीं खुला।


बताया जा रहा है कि लोकसभा चुनाव के दौरान सपा-बसपा गठबंधन के साथ अखिलेश ने मायावती से गुजारिश की थी कि मुलायम सिंह यादव पर दर्ज गेस्ट हाउस कांड का मुकदमा वापस ले लें. मायावती ने वादा पूरा करते हुए मुलायम के खिलाफ मुकदमा वापस लेने का फैसला किया है.


गौरतलब है कि मायावती ने इस मामले में मुलायम सिंह यादव भाई शिवपाल यादव, आजम खान और बेनी प्रसाद वर्मा समेत अन्य आरोपियों के खिलाफ मुकदमा वापस नहीं लिया है.

(देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं)


अधिक राज्य की खबरें