चलती ट्रेन में ब्लास्ट करना चाहते थे मारे गए आतंकी
आतंकियों के पास से बड़े हथियार और गोला बारूद बरामद हुए हैं।


जम्मू : जम्मू में मंगलवार को नगरोटा और चमलियाल में हुए दो आतंकी हमलों में मारे गये छह आतंकियों से बड़े पैमाने पर गोली बारूद बरामद होने पर पाकिस्तान के आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के नापाक मंसूबे सामने आए हैं। माना जा रहा है कि दोनों हमलों में मारे गये आतंकी जम्मू के सांबा में चलती ट्रेन में ब्लास्ट या पठानकोट जैसे हमले को अंजाम देना चाहते थे। इसके बाद उनका इरादा ट्रेन या आर्मी कैंप पर इस तरह के केमिकल फेंकने का था, जिससे वो जल जाएं।

सुरक्षा एजेंसियों के मुताबिक मारे गए आतंकियों के पास से बड़े हथियार और गोला बारूद बरामद हुए हैं। आतंकियों के पास से चेन्ड आईईजी, सुसाइड बेल्ट और विस्फोटकों से भरे हुए सुसाइड बैग मिले हैं। इसी प्रकार उड़ी हमले में मारे गए आतंकियों के पास से भी इसी तरह के केमिकल बरामद किए गए थे।

आतंकियों के पास से संचार के बेहतर उपकरण भी मिले हैं, जिसके जरिए वो पाकिस्तान में अपने हैंडलरों से संपर्क में थे। सूत्रों के अनुसार आतंकियों का यह ग्रुप बेहतरीन उपकरणों से लैस था और सुरक्षाबलों के साथ लंबे समय तक जूझने के लिए इनके पास एनर्जी टेबलेट, एनर्जी ड्रिंक और मेवे थे। 

बताते चलें कि मंगलवार को नगरोटा और चमलियाल में आतंकियों ने सुरक्षाबलों को निशाना बनाया था। इस हमले में दो ऑफिसर और 5 जवान शहीद हो गए। दोनों मुठभेड़ के दौरान 6 आतंकी ढेर हो गए हैं। चमलियाल में तीन आतंकियों को ढेर करने के बाद ऑपरेशन मंगलवार को ही ख़त्म हो गया था लेकिन सेना ने नगरोटा में आज सुबह से सघन तलाशी अभियान जारी कर रखा है।


अधिक देश की खबरें