पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह का वार, दिल्ली हिंसा एक राष्ट्रीय शर्म
फाइल फोटो


देश की राजधानी दिल्ली में नागरिकता संशोधन एक्ट के नाम पर हुई हिंसा से पूरे देश हिल गया। इस दौरान कांग्रेस पार्टी ने मोदी सरकार पर निशाना साधा है और राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात करते हुए गृह मंत्री को हटाने की मांग की है। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की अगुवाई में गुरुवार को एक प्रतिनिधिमंडल ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात की। इस बैठक के बाद पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा और दिल्ली हिंसा को राष्ट्रीय शर्म बताया और केंद्र सरकार से राजधर्म का पालन करने की अपील की।


दिल्ली हिंसा एक राष्ट्रीय शर्म

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा कि दिल्ली हिंसा के मसले पर हमने राष्ट्रपति से मुलाकात की, जो दिल्ली में हुआ है वह एक राष्ट्रीय शर्म है। ये सीधे तौर पर केंद्र सरकार का फेलियर है। मनमोहन सिंह बोले कि हमने राष्ट्रपति जी से कहा कि वो अपनी ताकत का इस्तेमाल करें, केंद्र सरकार से बात करें और राजधर्म की रक्षा करने को कहें।

दिल्ली हिंसा के मसले पर कांग्रेस मोदी सरकार पर हमलावर है और खुद सोनिया गांधी इसकी अगुवाई कर रही हैं। बुधवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद आज फिर सोनिया ने मीडिया से बात की। सोनिया ने केंद्र सरकार और दिल्ली सरकार पर निशाना साधा और कहा कि हिंसा के दौरान दोनों सरकारें मूकदर्शक बनी रहीं।

देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं


अधिक देश की खबरें