उत्तर भारत में घना कोहरा, ट्रेनें व उड़ानें प्रभावित
कई इलाकों में घने कोहरे के साथ ही ठंडी हवा चलने से लोगों की दिक्कत बढ़ गयी है।


नई दिल्ली : राजधानी दिल्ली में बुधवार की सुबह कोहरे की घनी चादर होने के कारण दृश्यता न के बराबर हो गई। इस वजह से ट्रेनें और उड़ानें भी प्रभावित हुई है। उत्तर भारत के कई इलाकों में घने कोहरे के साथ ही ठंडी हवा चलने से लोगों की दिक्कत बढ़ गयी है। इसी के साथ ही दिल्ली समेत पूरा उत्तर भारत कड़ाके की ठण्ड की गिरफ्त में है। दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़ और पश्चिमी उत्तर प्रदेश सहित उत्तर भारत के तमाम इलाकों में कमोबेश इसी तरह के हालात है। 

दिल्ली के अलावा सोनीपत, गाजियाबाद,फरीदाबाद और नोएडा कोहरे की घनी चादर में लिपटे हुए नजर आ रहे हैं। राजधानी दिल्ली-नोएडा, दिल्ली-आगरा यमुना एक्सप्रेस वे और दिल्ली-गुड़गांव एक्सप्रेस-वे पर धुंध की वजह से यातायात काफी धीमा है। रूट डायवर्जन और कोहरा बढऩे से ट्रेनों के पहिये धीमे होने लगे हैं। राजधानी और शताब्दी समेत दिल्ली आने वाली 81 ट्रेने देरी से चल रही हैं। 

21 ट्रेनों को रिशेड्यूल किया गया है और तीन ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है। मिली जानकारी के मुताबिक कोहरे के चलते दृश्यता कम होने के कारण दिल्ली एयरपोर्ट पर 8 अंतर्राष्ट्रीय उड़ानें विलम्बित हुई, तीन का रूट डायवर्ट करना पड़ा जबकि 5 घरेलू उड़ानों में देरी हुई। मौसम विभाग का कहना है कि पहाड़ों पर हो रही बर्फबारी का असर मैदानी इलाकों में नजर आ रहा है जिससे कोहरा और ठंड बढ़ रही है। आने वाले दिनों में पहाड़ों पर बर्फ बढ़ेगी तो मैदानी इलाकों में ठंड भी बढ़ेगी। 

मौसम विभाग के मुताबिक बुधवार की सुबह तापमान में भी जबरदस्त कमी आई है। मौसम विभाग का कहना है कि दिल्ली और आसपास के इलाको में इस हफ्ते कोहरा और ठण्ड बढेगी। उत्तर प्रदेश में लखनऊ और आसपास के जिलों में घना कोहरा है। राज्य के कई इलाकों में तीन दिन से कड़ाके की ठण्ड के चलते जनजीवन बुरी तरह से अस्तव्यस्त है। सूबे से गुजरने वाली सियालदह, संपर्क क्रांति एक्सप्रेस समेत दर्ज़नों ट्रेनें घंटों देरी से चल रही हैं। कोहरे के कारण सूबे के विभिन्न इलाकों में सड़क परिवहन भी बुरी तरह से प्रभावित हुआ है। 


अधिक देश की खबरें