भारतीय फिल्मों पर लगी रोक पाकिस्तान के सिनेमाघरों से हटेगी
एक निजी मीडिया समूह फिलहाल पाकिस्तान में दंगल लाने और उसे रिलीज करने की कोशिश कर रहा है.


कराची : पाकिस्तान में सिनेमा मालिक भारतीय फिल्मों के प्रदर्शन पर खुद लगाई रोक को सोमवार को समाप्त कर सकते हैं जो उड़ी आतंकी हमले के बाद दोनों देशों के बढ़ते तनाव के बीच लगाई गई थी.

फिल्म एक्जिबिटर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष जोरैश लाशारी ने संवाददाताओं से कहा कि संबधित पक्षों के साथ पूरी बातचीत के बाद फैसला किया गया कि 19 दिसंबर से भारतीय फिल्मों का प्रदर्शन फिर शुरू किया जाएगा.

उन्होंने कहा, "भारतीय फिल्मों के प्रदर्शन पर अस्थाई रोक लगाने के फैसले से सिनेमा मालिक और इस उद्योग के दूसरे पक्ष प्रभावित हुए हैं. नए सिनेप्लेक्स और मल्टीप्लेक्स बनाने में बहुत निवेश किया गया है और इस समय कारोबार नई भारतीय फिल्मों के प्रदर्शन पर टिका है." लाशारी के मुताबिक सिनेमा मालिकों और प्रदर्शकों ने भारतीय फिल्मों की स्क्रीनिंग को अपने स्तर से टाला था और यह प्रतिबंध नहीं था.

फिल्म उद्योग के सूत्रों ने कहा कि जब पुरानी और नई पाकिस्तानी फिल्मों और नई हॉलीवुड फिल्में भी हॉल भरने में नाकाम रहीं तो सिनेमा मालिक और भारतीय फिल्मों के आयातक परेशान हो गए थे. एक सूत्र ने कहा, "एक निजी मीडिया समूह फिलहाल पाकिस्तान में 'दंगल' लाने और उसे रिलीज करने की कोशिश कर रहा है."


अधिक मनोरंजन की खबरें