नोटबंदी पर संसदीय समिति के समक्ष गुरुवार को पेश होंगे पटेल
इस निर्णय के बाद से सरकार ने डिजिटल भुगतान को बढ़ावा देने के लिए कई अहम कदम उठाए हैं।


नई दिल्ली : भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) गवर्नर उर्जित पटेल 22 दिसम्बर को नोटबंदी और उसके प्रभाव के बारे में वित्त संबंधी संसदीय समिति के समक्ष प्रस्तुत होकर विस्तार से जानकारी देंगे। संसद की बेवसाइट पर इस आशय की जानकारी साझा की गई है।

उर्जित पटेल गुरुवार को 11 बजे समिति की बैठक में उपस्थित होंगे। बीते 8 नवम्बर की रात से प्रधानमंत्री ने पांच सौ और एक हजार के नोटों को चलन से बाहर करने का ऐलान किया था। इस निर्णय के बाद से सरकार ने डिजिटल भुगतान को बढ़ावा देने के लिए कई अहम कदम उठाए हैं। हालांकि आम आदमी नकदी की किल्लत से अब भी जूझ रहा है। केंद्र सरकार के नोटबंदी के फैसले के बाद पांच सौ और एक हजार के नोट जो प्रचलन में थे उनमें से 86 प्रतिशत वापस आ गए हैं। बीते सप्ताह आरबीआई ने बताया था कि नोटबंदी के बाद 12.44 लाख करोड़ की नकदी बैंकों में एकत्रित की गई है। 


अधिक बिज़नेस की खबरें