मुस्लिमों को रिझा गई माया, बोली तीन तलाक में नहीं होगा हस्तक्षेप
मुस्लिमों को रिझा गई माया, बोली तीन तलाक में नहीं होगा हस्तक्षेप


झांसी: चुनावी जंग में कोई भी पार्टी मतदाताओं को अपनी ओर आकर्षित करने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ना चाहती है। शनिवार को आयोजित एक जनसभा में बसपा सुप्रीमो ने भी मुस्लिमों को रिझाने के लिए एक तुरुप का इक्का चल दिया।
जनसभा को संबोधित करते हुए बसपा सुप्रीमो मायावती ने पहले तो सपा-कांगे्रस गठबंधन पर व्यंग बाण चलाए। सपा सुप्रीमो को धोखेबाज कहा। और फिर भाजपा को आड़े हाथों लेते हुए जुबलेबाज पार्टी बता डाला। अन्त में मुस्लिम वोटों को रिझाने के लिए उन्होंने भाजपा द्वारा उठाए गए मुद्दे तीन तलाक का बड़े आराम से समर्थन करते हुए हमदर्दी बटोरने का काम कर दिया। यह अलग बात है कि आखिरकार मुस्लिम मतदाताओं को यह बात कितना बसपा की ओर आकर्षित कर पाती है। उन्होंने साफ लब्जों में कहा कि 11 मार्च को चुनाव के परिणाम आने के बाद बसपा की सरकार बनेगी। उसके बाद वह मुस्लिमों के खिलाफ भाजपा के द्वारा उठाए गए मुद्दे तीन तलाक बाले मामले में हस्तक्षेप नहीं करेंगी। इस बहाने उन्होंने अप्रत्यक्ष रुप से मुस्लिमों से बसपा को वोट करने की अपील भी कर डाली। और घोषणा के रुप में भी एक सौगात देने का वायदा भी किया। बताते चलें कि सदर विधानसभा क्षेत्र में मुस्लिम मतदाताओं की संख्या करीब 30 हजार से अधिक है। इनका किसी भी पार्टी के लिए मतदान करना प्रतिद्वंदी के लिए अहम महत्व रखेगा। अब देखना यह है कि क्या बसपा सुप्रीमो का यह कार्ड अपने उम्मीदवार को मदद दिला पाएगा।


अधिक राज्य की खबरें