पीएम मोदी ने छठे-सातवें चरण में जनता से मांगा बोनस
इस चुनाव में 15 साल तक जिन्होंने उत्तर प्रदेश पर जुल्म किया है, लूटा है, इन सबको चुन-चुनकर साफ करने में लोग लगे हैं।


महाराजगंज : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि पांचों चरण का हिसाब लोगों ने लगा लिया है। अब बचने की कोशिश उनके लिए बेकार है। उत्तर प्रदेश की जनता 15 साल का गुस्सा निकाल रही है। इस चुनाव में 15 साल तक जिन्होंने उत्तर प्रदेश पर जुल्म किया है, लूटा है, इन सबको चुन-चुनकर साफ करने में लोग लगे हैं।

पीएम मोदी ने महाराजगंज में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा कि जैसे इन्द्रधनुष के सात रंग होते हैं, वैसे ही उत्तर प्रदेश में भी चुनाव के सात चरण हैं। इन्द्रधनुष के रंगों की तरह सात चरणों के चुनाव का छठवां और सातवां चरण आपके हाथ में है। उन्होंने कहा कि जब हम सब्जी या दूध खरीदने जाते हैं, तो वह हमारे कहने पर थोड़ी मिर्चा और दूध बोनस और गिफ्ट के रूप में दे देते हैं। पांच चरण के अन्दर यूपी की जनता ने भाजपा को जीत दिला दी है। छह और सात चरण वालों को अब बोनस देना है, गिफ्ट देना है। ऐसा बोनस दीजिए कि पिछले कई वर्षों तक जैसे बहुमत नहीं मिला है, ऐसा बहुमत भाजपा के कमल निशान को मिलना चाहिए।

प्रधानमंत्री ने कहा कि ये चुनाव गरीबों के हक का चुनाव है। ये चुनाव अपराध से मुक्ति का चुनाव है। ये चुनाव शोषण से मुक्ति का, भाई भतीजेवाद से मुक्ति का, अपने-पराये के बीच भेद से मुक्त करने का, सबको समान अवसर प्रदान करने और ऊंच-नीच की भेद रेखाओं को तोड़ने वाला चुनाव है। इसलिए यूपी को एकता से रंग देना। शान्ति, सद्भावना को घर-घर पहुंचाना के सपने को लेकर हम आये हैं। हमें इसे पूरा करना है। उ.प्र. सरकार की वेबसाइट को लेकर अखिलेश यादव पर निशाना साधा प्रधानमंत्री ने एक बार फिर मुख्य मंत्री अखिलेश यादव पर तंज कसते हुए कहा कि अखिलेश जी को बुरा लग जाता है कि मोदी जी ऐसा क्यों बोलते हैं। 

मैं देख रहा था कि उत्तर प्रदेश सरकार की वेबसाइट खुद क्या कह रही है। उत्तर प्रदेश सरकार की आधिकारिक वेबसाइट में बताया गया है कि उत्तर प्रदेश में जिन्दगी बहुत छोटी होती है, कब मर जाएं, कोई भरोसा नहीं होता। यह मैं नहीं कह रहा हूं और न ही यमराज की तरफ से कोई चिट्ठी आयी है। यह तो अखिलेश सरकार की अधिकृत वेबसाइट कह रही है। इसके अलावा इसमें लिखा है कि हमारे उत्तर प्रदेश की हालत अफ्रीका में सहारा के रेगिस्तान जैसी है। प्रधानमंत्री ने कहा कि अखिलेश जी आप यह कहें, हम यह भी नहीं मानें क्या? उन्होंने कहा कि अब मेरे भाषण के बाद अफसरों पर गाज गिरेगी? आज मैं उनका पूरा कच्चा-चिठ्ठा निकालकर आया हूं।

जीडीपी नहीं बढ़ने की बात करने वालों की नोटबन्दी पर बदली भाषा पीएम मोदी ने विरोधी दलों पर निशाना साधते हुए कहा कि विपक्ष के लोग एक साल पहले कहते थे कि आर्थिक विकास चौपट हो गया है। देश तरक्की नहीं कर रहा है। जीडीपी नहीं बढ़ रही है। जब मैने 08 नवम्बर को रात आठ बजे टीवी पर आकर नोटबन्दी की बात कही तो पूरा देश जग गया। तब यह लोग कहने लगे कि मोदी जी हमें समझ में नहीं आ रहा है कि जब देश तेज गति से आगे बढ़ रहा था। आर्थिक गति से छलांग लगाने को तैयार था, तब आपने नोटबन्दी करके पैर क्यों काट लिए। उनकी भाषा बदल गई। चित्त भी मेरी, पट़ट भी मेरी। कहते थे कि किसान बर्बाद हो गया, बेकारी आ गई। हावर्ड से पढकर आया था तो कोई अर्थशास्त्री था। 

कहते थे कि जीडीपी दो से तीन फीसद गिर जाएगा, लेकिन देश ने देख लिया कि हावर्ड एवं हार्डवर्क का क्या फर्क पड़ता है। एक तरफ हावर्ड वाले दूसरी तरफ हार्ड वर्क करने वाले प्रधानमंत्री ने कहा कि एक तरफ विरोधियों की जमात है तो हावर्ड की बातें करते हैं। एक तरफ गरीबों का बेटा है जो हार्ड वर्क करके देश को आगे बढ़ाने की बात करता है। उन्होंने कहा कि देश ने देख लिया कि 'हॉवर्ड' की क्या सोच है और 'हार्ड वर्क' वालों की क्या सोच है।

उन्होंने कहा कि दुनिया देख रही है कि भारत दुनिया मे तेज बढ़ने वाली इकोनामी है। कल नए आंकडे आए, जिसमें स्पष्ट हो गया है कि नोटबन्दी के बाद भी देश की विकास यात्रा पर कोई आंच नहीं आई है। आंकड़ों ने नोटबन्दी को बताया सफल मोदी ने कहा कि मैं किसानों, नौजवानों, गरीबों को सिर झुकाकर नमन करना चाहता हूं, जिन्होंने देश को पीछे नहीं जाने दिया। कल जो आंकडे आए हैं उसे लेकर उन्हें परेशानी है। सत्य बाहर आ गया, तो वह अब कह रहे हैं कि आंकडे़ कहां से आए, क्या पता कि ये आंकडे़ सच हैं या झूठ हैं। सारी सरकारों में आंकड़े जहां से आते हैं हमारी सरकार में भी वहीं से आए हैं। ये आंकडे़ मेहनतकश की इमानदारी से आए हैं। ये गर्व करने वाले आंकडे़ हैं।

 उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के खनन के आंकड़े बढ़ते ही जा रहे हैं। अखिलेश इसे रोकने में असफल हैं। देश ने कृषि, तकनीक हर क्षेत्र में तरक्की की है। विकास इस तरह बोलता है। इससे पहले उन्होंने कहा कि मैं महाराजगंज पहले भी आया था। आज फिर यहां आने का सौभाग्य मिला है। चुनाव के पांच चरण पूरे हो चुके हैं। इन पांचों चरण में मतदाताओं ने जिस उमंग के साथ, जिस उत्साह के साथ लोकतंत्र को इस महापर्व को मनाया है, भारी मतदान किया है। शान्तिपूर्ण मतदान किया है। इसलिए उत्तर प्रदेश के पांच चरण में मतदान करने वाले सभी मतदाताओं का दिल से बहुत अभिनन्दन करता हूं।


अधिक राज्य की खबरें