राहुल गांधी की रैली में भीड़ जुटाने में जुटी कांग्रेस
कांग्रेस मंगलवार से दिल्ली नगर निगम के चुनाव प्रचार अभियान की अधिकारिक तौर पर शुरूआत करने जा रही है।


नई दिल्ली : कांग्रेस मंगलवार से दिल्ली नगर निगम के चुनाव प्रचार अभियान की अधिकारिक तौर पर शुरूआत करने जा रही है। पार्टी उपाध्यक्ष राहुल गांधी आज शाम पांच बजे दिल्ली के रामलीला मैदान में रैली को संबोधित कर इसकी शुरुआत करने जा रहे हैं। पार्टी इस सम्मेलन में 26 हजार कांग्रेसी कार्य़कर्ताओं के भाग लेने का दावा कर रही है। पार्टी ने 900 बसें को किराए पर लेकर कार्यकर्ताओं को रामलीला मैदान तक पहुंचाने का काम शुरू कर दिया है। 

संभावना जताई जा रही है कि एमसीडी के चुनाव अगले माह के दूसरे पखवाड़े में होंगे। चुनाव को लेकर कांग्रेस ने दो माह पहले ही तैयारी शुरू कर दी थी। इसके लिए नेताओं व कार्यकर्ताओं को 'जागृत' किया जा रहा है| साथ ही पार्टी अपने पुराने वोट बैंक को भी साधने में लगी है। असल में एमसीडी चुनाव को लेकर कांग्रेस इसलिए उत्साह में हैं, क्योंकि पिछले साल हुए एमसीडी के 13 वॉर्डों में हुए चुनाव में पार्टी ने पांच सीटें जीतकर सबको हैरानी में डाल दिया था, जबकि पिछले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस का सूपड़ा साफ हो गया था और 15 साल तक दिल्ली में राज करने वाली कांग्रेस विधानसभा चुनाव में एक भी सीट नहीं जीत पाई थी। 

राहुल की इस रैली को लेकर कांग्रेस के दिल्ली अध्यक्ष अजय माकन का कहना है कि 'इस रैली की थीम रखी गई है 'बहाने नहीं करेंगे विकास, अनुभव है हमारे पास।' माकन के अनुसार संतोष की बात यह है कि पूरी दिल्ली के पार्टी नेता व कार्यकर्ता इस रैली को लेकर पूरे उत्साह में हैं। उन्होंने दावा किया कि इस रैली में लाखों लोग इकट्ठा होंगे और कांग्रेस में विश्वास जताएंगे। गौरतलब है कि कि 15 सालों तक दिल्ली की सत्ता पर काबिज़ कांग्रेस फिलहाल दिल्ली की राजनीति में सबसे निचले पायदान पर है। कांग्रेस के पास दिल्ली में न तो कोई विधायक है और न ही लोकसभा सांसद। एमसीडी में भी कांग्रेस पिछले 10 साल से विपक्ष में है और ऐसे में दिल्ली की राजनीति में दमदार वापसी के लिए एमसीडी चुनाव ही एकमात्र रास्ता बचा है। राहुल गांधी की रैली की सफलता काफी हद तक एमसीडी चुनाव में कांग्रेस का प्रदर्शन तय कर सकती है।


अधिक देश की खबरें