...तोक्यो को मान सकते हैं दुनिया का सबसे ईमानदार शहर
हर साल तोक्यो पुलिस के खोया-पाया विभाग के पास लोगों की खोई चीजें पहुंचती हैं।


तोक्यो : हो सकता है कि आपमें से कई लोगों का ईमानदारी पर से भरोसा उठ गया हो, लेकिन दुनिया में अब भी कई ऐसी जगहें हैं जहां लोग ईमानदारी से जीने की अहमियत समझते हैं। जापान की राजधानी तोक्यो को दुनिया का सबसे ईमानदार शहर माना जाता है। हर साल तोक्यो पुलिस के खोया-पाया विभाग के पास लोगों की खोई चीजें पहुंचती हैं। जब भी लोगों को कोई सामान कहीं लावारिस पड़ा मिलता है, तो लोग उसे पुलिस के पास पहुंचा देते हैं। इनमें चाभी, धूप के चश्मे और रोजमर्रा के इस्तेमाल की कई चीजों के अलावा लाखों-करोड़ों रुपये इसी तरह हर साल तोक्यो पुलिस के खोया-पाया विभाग के पास पहुंचते हैं। 2016 में तोक्यो पुलिस को इसी तरह 2 अरब से ज्यादा की राशि मिली। पुलिस विभाग के मुताबिक, इनमें से तीन चौथाई से ज्यादा रकम उनके सही दावेदारों के पास पहुंचा दी गई।

जापान को पारंपरिक तौर पर ईमानदार देश समझा जाता है। यहां आने वाले ज्यादातर विदेशी पर्यटक अपने देश वापस लौटकर जापानी लोगों की ईमानदारी की मिसालें देते हैं। माना जाता है कि अगर जापान में आपका कोई सामान खो गया है, तो बहुत मुमकिन है कि वह आपको वापस मिल जाएगा। जापानी अर्थव्यवस्था भी काफी मजबूत है। बैंक ऑफ जापान द्वारा जारी एक रिपोर्ट में कहा गया है कि साल 2015 में जापान के अंदर 10,3000,000 मिलियन येन मुद्रा चलन में थी। 18 विकसित देशों की तुलना में देखें, तो यह सबसे ज्यादा रकम है।

जहां ज्यादातर जगहों पर नकद पैसा लेकर सफर करना काफी जोखिम का काम माना जाता है, वहीं जापान में यह अपेक्षाकृत काफी आसान है। आपको यह फिक्र करने की भी जरूरत नहीं कि कोई आपके पैसे लूट लेगा। यहां लोग कैफे में अपनी सीट बुक करने के लिए वहां मेज पर अपने महंगे फोन रख देते हैं और ऑर्डर देने के लिए फोन को वहीं छोड़कर काउंटर पर चले जाते हैं। उनके पीछे कोई भी उनका फोन नहीं चुराता है। जापान में किसी दुकान पर खरीदारी करते हुए अगर आप अपना कोई बेहद महंगा सामान भी वहीं भूल जाएं, तो दुकानदार इस उम्मीद में आपका सामान संभाल कर रखेगा कि शायद आप एक दिन लौटकर वहां अपना सामान लेने आएंगे।

जापान के पूर्व पुलिस अधिकारी और वर्तमान में कनसाइ यूनिवर्सिटी में प्रफेसर तोशिनारी निशिओका ने बताया, 'जापानी स्कूलों में छात्रों को नैतिकता और अच्छे बर्ताव की सीख दी जाती है। यहां छात्रों को यह कल्पना करना सिखाया जाता है कि जब वह किसी का खोया सामान या पैसा उसे लौटाएंगे, तो उन लोगों को कैसा महसूस होगा।' जापान में ईमानदारी पर इनाम भी मिलता है। जापान के खोया सामान कानून के मुताबिक, अगर किसी के खोये पैसे को कोई पुलिस के हवाले करे, तो उसे बतौर इनाम उस रकम का 5 से 20 फीसद हिस्सा दिया जा सकता है।


अधिक विदेश की खबरें