हर दिन कम से कम एक बार पाकिस्तानी सेना कर रही है संघर्षविराम का उल्लंघन
हर दिन कम से कम एक बार पाकिस्तानी सेना कर रही है संघर्षविराम का उल्लंघन


नई दिल्ली: जम्मू कश्मीर में नियंत्रण रेखा और अंतरराष्ट्रीय सीमा पर पिछले दो वर्षो में पाकिस्तान की ओर से औसतन हर दिन कम से कम एक बार संघर्षविराम का उल्लंघन किया गया, साथ ही राज्य में पिछले पांच वर्षो में हर दूसरे दिन एक आतंकी घटना सामने आई है। सूचना का अधिकार (आरटीआई) के तहत गृह मंत्रालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार, साल 2015 में नियंत्रण रेखा और अंतरराष्ट्रीय सीमा पर संघर्ष विराम के उल्लंघन की 405 घटनाएं सामने आई जबकि 2016 में 449 घटनाएं सामने आई। गृह मंत्रालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार, साल 2015 में नियंत्रण रेखा और अंतरराष्ट्रीय सीमा पर संघर्ष विराम के उल्लंघन की 405 घटनाओं में 10 सुरक्षाकर्मी शहीद हुए जबकि 2016 में नियंत्रण रेखा के साथ ही अन्य स्थानों पर हुई ऐसी 449 घटनाओं में 13 सुरक्षाकर्मी शहीद हुए। आरटीआई के तहत मंत्रालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार, जम्मू कश्मीर में 2012 से 2016 के बीच पांच वर्षो के दौरान 1142 आतंकी घटनाएं घटीं जिसमें 236 सुरक्षाकर्मी शहीद हुए और 90 नागरिकों की जान चली गयी। इस अवधि में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में 507 आतंकवादी मारे गए। साल 2012 में जम्मू कश्मीर में आतंकी हिंसा की 220 घटनाएं सामने आई जिसमें 15 सुरक्षाकर्मी शहीद हुए और 15 नागरिकों ने जान गंवाई, जबकि सुरक्षाकर्मियों ने 72 आतंकवादियों को मार गिराया। साल 2013 में राज्य में आतंकी हिंसा की 170 घटनाएं सामने आई जिसमें 53 सुरक्षाकर्मी शहीद हुए और 15 नागरिक मारे गए और सुरक्षाकर्मियों ने 67 आतंकवादियों को मार गिराया। 2014 में जम्मू कश्मीर में आतंकी हिंसा की 222 घटनाएं सामने आई जिसमें 47 सुरक्षाकर्मी शहीद हुए और 28 नागरिकों की जान गयी तथा सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में 110 आतंकवादी मारे गए।


अधिक देश की खबरें