90 सेकेंड में हैक हो सकती EVM आप ने दिया डेमो
90 सेकेंड में हैक हो सकती EVM आप ने दिया डेमो


नई दिल्लीः आज आम आदमी पार्टी के नेता सौरभ भारद्वाज ने ईवीएम मशीनों के साथ छेड़छाड़ संभव होने का दावा करते हुए बाकायदा इसका डेमो दिया है। दिल्ली विधानसभा में आम आदमी पार्टी के नेता सौरभ भारद्वाज ने एक डेमो के जरिए समझाया कि कैसे इस बार चुनावों में ईवीएम के साथ छेड़छाड़ की जा सकती है? दिल्ली विधानसभा में डेमो के दौरान आरोप लगाया कि EVM के साथ छेड़छाड़ करके आप के वोटों को बीजेपी के खाते में डाले गए हैं।

ऐसे दिया सौरभ भारद्वाज ने EVM टेंपरिंग का डेमो
सौरभ भारद्वाज ने कहा कि EVM के मदरबोर्ड को हैक करने में सिर्फ 90 सेकेंड लगते हैं और 90 सेकेंड के अंदर इसे हैक करके चुनावी नतीजों की पूरी तस्वीर बदल सकते हैं। जिस दिन वोटिंग चल रही है उसी वक्त ये तय किया जा सकता है कि किस पार्टी के किस कैंडीडेट को जिताना है? इस बार चुनावों में EVM के साथ छेड़छाड़ कर नतीजे पलटे गए हैं। 
हर पार्टी का अपना एक कोड होता है और सीक्रेड कोड के जरिए मतदाता किसी को भी वोट डाले ये वोट उसी पार्टी को जाएगा जिसे मशीन चाहेगी। सौरभ भारद्वाज ने डेमो के दौरान आप पार्टी के सिंबल झाड़ू पर बार-बार बटन दबाकर असली ईवीएम के साथ अलग-अलग बटन दबाकर आप को 10 वोट और बीजेपी को 3 वोट डालकर दिखाया। असलियत में डाले गए वोटों में बीजेपी-कांग्रेस को 2-2 वोट और बीजेपी को 3 वोट मिले जबकि आप को 10 वोट मिले। लेकिन टेंपर्ड ईवीएम मशीन के नतीजे देखने पर बीजेपी को 11 और कांग्रेस-बीजेपी को 2-2 वोट मिले और आप को भी 2 वोट वोट मिले। यानी साफ तौर पर मशीन को टेंपर करके सारे वोट बीजेपी के खाते में डाल दिए गए । इस डेमो के साथ आरोप लगाया गया कि इस बार के विधानसभा चुनावों में ऐसा ही किया गया है। सौरभ भारद्वाज ने कहा कि अगर पहले से तय कर दिया गया है कि बीजेपी को जिताना है तो उस पार्टी का कोड मशीन में डालना है। 
वोटर जिस भी बटन को दबाएगा उसका वोट उस पार्टी कोड के खाते में जाएगा और सारे वोट उस पार्टी, उस कैंडीडेट को ही मिलेगा। ईवीएम मशीन में जिस पार्टी के कैंडीडेंट को जिताना है उसका बटन तय होगा और उसका कोड तय होगा। वोट डालते वक्त जो बीप की आवाज आती है वो उस सीक्रेट कोड को डालने वाली आवाज होती है जो मतदाता बूथ पर बैठे व्यक्ति ने चुपके से किया होता है और इसी के जरिए वोटर का वोट उस जिताने वाली पार्टी के कैंडीडेट को चला जाता है। 

गुजरात चुनावों के लिए दी बीजेपी को चेतावनी
एसेंबली में अपने डेमो-स्पीच के दौरान सौरभ ने बीजेपी पर आरोप भी लगाया कि इस पार्टी ने 5 साल में मशीनों को टेंपर करना सीखा है वहीं आप ने 3 महीने में ईवीएम मशीन को टेंपरिंग करना सीख लिया है। इस बार गुजरात विधानसाभा में होने वाले चुनावों के लिए जो मशीनें तैयार की जा रही हैं उन्हें सिर्फ 3 घंटे के लिए आम आदमी पार्टी को दे दिया जाए तो ये तय है कि गुजरात में बीजेपी किसी बूथ पर भी नहीं जीतेगी। सॉफ्टवेयर को टेंपर या हैक करना सिर्फ इसी सिद्धांत पर काम करता है कि मशीनें हैक करने वाला व्यक्ति मशीनें बनाने वाले से ज्यादा होशियार हो। और ये मुद्दा इसलिए गंभीर है कि आज जैसे देश में किसी पार्टी ने ईवीएम को हैक कर अपने पक्ष में फैसला दिलवाया है कल कोई और भी मशीनें हैक करके अपने हितों को साध सकता है। विदेशी ताकतों के हाथ में कुछ लोग खेल रहे हों और ऐसे लोग ईवीएम छेड़छाड़ कर लें तो क्या भयानक परिणाम होगा ? इससे पहले सुबह ही खबर आ गई थी कि दिल्ली की सत्ताधारी पार्टी आप आज विधानसभा में ईवीएम के ऊपर बड़ा खुलासा करने वाली है। आज दिल्ली विधानसभा की कार्यवाही शुरू होते ही सभी सदस्यों ने सुकमा में मारे गए शहीद जवानों को श्रद्धांजिल दी और उसके बाद ही बीजेपी ने हंगामा शुरू कर दिया। दिल्ली के पूर्व जल मंत्री कपिल मिश्रा के आरोपों के बाद मचे सियासी बवाल के बीच जैसे ही दोपहर 2 बजे दिल्ली विधानसभा की कार्यवाही शुरू हुई, विपक्ष ने जोरदार हंगामा किया और स्पीकर ने विपक्ष के नेता विजेंद्र गुप्ता को मार्शल के जरिए बाहर निकालवा दिया।


अधिक देश की खबरें