भारत-जर्मनी के बीच कई समझौते, मोदी ने कहा, हम इक-दूजे के लिए बने
जर्मन चांसलर मर्केल ने मोदी से बातचीत के बाद कहा कि भारत ने एक विश्वसनीय साझेदार होने की बात साबित की है।


बर्लिन : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जर्मनी के साथ द्विपक्षीय रणनीतिक संबंधों का रोडमैप तैयार करने के लिए जर्मन चांसलर एंगेला मर्केल के साथ चौथे चरण की भारत-जर्मनी अंतर सरकारी वार्ता (IGC) की। PM मोदी ने दोनों देशों के बीच आठ समझौतों पर हस्ताक्षर किए। इस मौके पर मोदी ने कहा, 'हम एक दूसरे के लिए बने हैं।'

पीएम मोदी ने कहा कि आतंकवाद भविष्य की पीढि़यों के लिए एक गंभीर खतरा है और सभी मानवीय शक्तियों को बुराई से लड़ने के लिए एकजुट होना चाहिए। पीएम ने कहा कि भारत-जर्मन आर्थिक सहयोग में व्यापक उछाल आया है। जर्मन चांसलर मर्केल ने मोदी से बातचीत के बाद कहा कि भारत ने एक विश्वसनीय साझेदार होने की बात साबित की है। 

इससे पहले जर्मन चांसलर के ऑफिस यानी चांसलरी में मोदी का सैन्य सम्मान के साथ समारोहपूर्वक स्वागत किया गया। यहां मर्केल और वरिष्ठ जर्मन अधिकारियों ने उनका अभिवादन किया। प्रधानमंत्री ने चांसलर का अपने साथ आए भारतीय मंत्रीस्तरीय प्रतिनिधिमंडल से परिचय करवाया। मोदी को गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया और उनका स्वागत जर्मन सेना ने भारत के राष्ट्रगान की धुन बजा कर किया। इसके बाद दोनों नेता अंतरसरकारी समग्र सत्र में गए। यह सत्र मोदी की दो दिवसीय जर्मनी यात्रा का केंद्र बिंदु है।

मोदी IGC के तहत मर्केल के साथ औपचारिक वार्ताएं कर रहे थे। ये वार्ताएं हर दो साल में एक बार आयोजित की जाती हैं। मोदी के साथ उनके वरिष्ठ मंत्रियों का प्रतिनिधिमंडल भी था, जिनमें विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री हर्षवर्धन, वाणिज्यमंत्री निर्मला सीतारमण, उर्जा मंत्री पीयूष गोयल और विदेश राज्य मंत्री एम. जे. अकबर भी शामिल थे। पिछली बार IGC का आयोजन अक्तूबर 2015 में नई दिल्ली में किया गया था। तब द्विपक्षीय संबंधों को पर्याप्त बल मिला था।

PM मोदी और चांसलर मर्केल बुधवार को 'भारत जर्मन व्यापार सम्मेलन 2017' के उद्घाटन से पहले वरिष्ठ व्यापारी नेताओं से दोपहर भोज पर मुलाकात करेंगे। मोदी ने अपनी जर्मनी यात्रा के पहले दिन कल चांसलर मर्केल से रात्रि भोज के दौरान द्विपक्षीय हितों, क्षेत्रीय और ब्रेग्जिट के परिणाम, व्यापार एवं यूरोप में हुए हालिया आतंकी हमलों को लेकर कट्टरपंथ जैसे वैश्विक मुद्दों पर अनौपचारिक बातचीत की। बर्लिन के पास स्थित गेस्ट हाउस स्कॉलस मेसेबर्ग में दोनों नेताओं ने अपनी अनौपचारिक बातचीत के दौरान चीन की 'वन बेल्ट, वन रोड' पहल और जलवायु परिवर्तन पर चर्चा की। 


अधिक विदेश की खबरें

पाक सेना के टॉप ऑफिसर्स के साथ इमरान खान की हाईलेवल मीटिंग, भारत से लगी पूर्वी सीमा का हुआ जिक्र..

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने सेना, वायुसेना और नौसेना के शीर्ष अधिकारियों के साथ देश के ... ...