कश्मीर: अनंतनाग में सेना के काफिले पर हमला, 2 जवान शहीद, 4 जख्मी
रिहायशी इलाकों में भारी गोलीबारी की और मोर्टार दागे जिसका भारतीय सेना ने भी कड़ा जवाब दिया.


श्रीनगर  : पुलवामा में सेना के काफिले पर शनिवार को आंतकियों ने हमला कर दिया। इसमें 2 जवान शहीद हो गए, जबकि 4 जवान घायल हो गए। यह वारदात अनंतनाग के काजीगुंड में हुई। एक सेना के अधिकारी ने बताया कि एके-47 राइफलों से लैस आतंकियों ने सुबह सवा 11 बजे के करीब श्रीनगर से तकरीबन 70 किलोमीटर दूर काजीगुंड में सेना के काफिले पर हमला किया। हमले में सेना के 6 जवान घायल हुए। घायलों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया। इलाज के दौरान 2 जवान शहीद हो गए। आज ही गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने सुरक्षा के मुद्दे पर सरकार के तीन साल के कामकाज का लेखाजोखा पेश किया। 

इससे पहले, जम्मू एवं कश्मीर में नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर भारत और पाकिस्तान के जवानों के बीच शनिवार को भारी गोलीबारी हुई। रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल मनीष मेहता ने बताया, 'पाकिस्तानी सेना ने पुंछ जिले के कृष्णा घाटी सेक्टर में सुबह 9.20 बजे गोलीबारी शुरू की।' एक अन्य घटना में पाकिस्तानी सुरक्षाबलों ने शुक्रवार रात से पुंछ के पास संघर्षविराम का उल्लंघन किया। 

मेहता ने बताया, 'पाकिस्तानी सेना ने शुक्रवार रात 11 बजे से पुंछ में छोटे और स्वचालित हथियारों से हमला किया। 82एमएम और 120 एमएम के मोर्टार दागे।' वहीं, भारतीय सेना ने इन हमलों का मुंहतोड़ जवाब दिया। बता दें कि पाक की फायरिंग में घायल होने के बाद बीआरओ के कर्मचारी परवेज अहमद ने शुक्रवार को दम तोड़ दिया। सीमा सुरक्षा बल के हेड कॉन्स्टेबल और बीआरओ के कर्मचारी भी गुरुवार को इस हमले में घायल हुए थे। वहीं, भारतीय सेना ने बताया था कि जवाबी कार्रवाई में 5 पाकिस्तानी सैनिकों को मार गिराया गया था।

हमला ऐसे वक्त में हुआ है, जब सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत जम्मू कश्मीर के राज्यपाल एन एन वोहरा से शुक्रवार रात को मिले और उन्होंने राज्य में आंतरिक और बाहरी सुरक्षा प्रबंधन के मुद्दों पर चर्चा की। एक आधिकारिक प्रवक्ता ने कहा कि रावत ने राज भवन में वोहरा से मुलाकात की। इससे पहले, सेना ने कश्मीर घाटी में दो दिन तक सुरक्षा समीक्षा की और संचालनात्मक तैयारियों का जायजा लिया। राज्यपाल ने सेना प्रमुख द्वारा आयोजित समीक्षा बैठक में भाग लेने वाले तीन सेना कमांडरों और कई वरिष्ठ लेफ्टिनेंट जनरलों से भी मुलाकात की थी।


अधिक देश की खबरें