राजनीति में उतरने की तैयारी कर रहा आतंकी हाफिज सईद
अगर चुनाव आयोग से हरी झंडी मिल जाती है तो आतंकवाद का यह सरगना पाकिस्तान की राजनीति में अपने पैर जमाने की कोशिश करेगा।


इस्लामाबाद : पिछले 6 महीने से पाकिस्तान में नजरबंद आतंकवादी सरगना हाफिज सईद ने राजनीति में उतरने का मन बना लिया है। हाफिज सईद ने अपने संगठन जमात-उद-दावा की ओर से पाकिस्तान चुनाव आयोग में 'मिल्ली मुस्लिम लीग' के नाम से राजनीतिक पार्टी को मान्यता देने की अर्जी दी है।

दरअसल इस वक्त पाकिस्तान में राजनीतिक उथल-पुथल का माहौल है। पनामा केस में नवाज शरीफ को पीएम की कुर्सी गंवानी पड़ गई है। ऐसे में हाफिज सईद को लगता है कि उसके लिए यह राजनीति में कदम रखने का सबसे बेहतर मौका है क्योंकि पाकिस्तान की सेना और आईएसआई में हाफिज सईद की अच्छी पैठ है। अगर चुनाव आयोग से हरी झंडी मिल जाती है तो आतंकवाद का यह सरगना पाकिस्तान की राजनीति में अपने पैर जमाने की कोशिश करेगा।

गौरतलब है कि हाफिज सईद पिछले 6 महीने से नजरबंद है। यह कार्रवाई अमेरिका की उस चेतावनी के बाद की गई थी जिसमें अमेरिका ने कहा था कि अगर जमात-उद-दावा के खिलाफ कार्रवाई नहीं की गई तो वह पाकिस्तान पर प्रतिबंध लगा सकता है। बता दें कि मुंबई के 26/11 आतंकवादी हमले का हाफिज सईद मास्टरमाइंड है और भारत इसके खिलाफ लगातार कार्रवाई की मांग कर रहा है। हाफिज सईद की नजरबंदी को बुधवार को ही बढ़ाया गया है। जानकारों का मानना है कि यही वजह है कि हाफिज सईद अब सियासत के माध्यम से अपनी पकड़ पाकिस्तान पर मजबूत करना चाहता है।


अधिक विदेश की खबरें