बाढ़ से भारतीय रेल को करीब 150 करोड़ का नुकसान
पूर्वी मध्य रेल ने 66 ट्रेनों को रद्द और 105 ट्रेनों को आशिंक तौर पर रद्द किया है।


नई दिल्ली : असम, पश्चिम बंगाल, बिहार और उत्तर प्रदेश में आई बाढ़ के कारण भारतीय रेल को पिछले 7 दिनों में करीब 150 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। रेलवे के प्रवक्ता अनिल सक्सेना ने कहा कि बाढ़ से व्यवधान के कारण पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे को यात्रियों और माल ढुलाई से प्राप्त होने वाले राजस्व में प्रति दिन 12 करोड़ रुपये का नुकसान उठाना पड़ा है। इसके अलावा बाढ़ से क्षतिग्रस्त हुई पटरियों की मरम्मत में 10 करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान है। इस तरह 7 दिन में कुल नुकसान करीब 94 करोड़ रुपये तक पहुंचने का अनुमान है। 

इसी तरह, पूर्वी मध्य रेल को प्रति दिन 5.5 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है जबकि मरम्मत में उसे 5 करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान है। उन्होंने कहा, 'राजस्व को हुए नुकसान का सटीक आंकड़ा दे पाना मुश्किल है। ये आंकड़े अनुमानित हैं। सही तस्वीर स्थिति सामान्य होने के बाद ही उभरेगी। पूर्वोत्तर क्षेत्र में कुल 445 ट्रेनों का परिचालन पूरी तरह रद्द किया गया है जबकि 151 के परिचालन को आंशिक तौर पर रद्द किया गया है। 4 गाड़ियों का मार्ग परिवर्तित किया गया है। पूर्वी मध्य रेल ने 66 ट्रेनों को रद्द और 105 ट्रेनों को आशिंक तौर पर रद्द किया है। इसके अलावा 28 ट्रेनों के रूट बदले गए हैं।





अधिक बिज़नेस की खबरें