श्रीसंत ने बताया 2013 आईपीएल के दौरान तौलिया लटकाने की वजह
2013 में आईपीएल में स्पॉट फिक्सिंग के कथित आरोपों के चलते श्रीसंत पर आजीवन प्रतिबंध लगा दिया गया था।


नई दिल्ली : उस एक रात ने तेज गेंदबाज शातांकुमारन श्रीसंत के क्रिकेट करियर को हमेशा के लिए बदल दिया। आईपीएल 2013 में स्पॉट फिक्सिंग के आरोप के चलते वह किसी भी प्रकार के क्रिकेट से दूर हैं। 

श्रीसंत ने गेंदबाजी के दौरान ट्राउजर के साथ तौलिया लटकाकर रखा था। आरोप है कि यह बुकी के लिए किसी प्रकार का सिगनल था। पर अब श्रीसंत इसके पीछे दूसरी ही वजह बता रहे हैं। उन्होंने विजडन इंडिया को बताया कि वह साउथ अफ्रीका के पूर्व तेज गेंदबाज एलन डॉनल्ड को अपना आदर्श मानते हैं और चूंकि डॉनल्ड गेंदबाजी करते समय ट्राउजर में तौलिया लटकाकर रखते थे इसलिए मैं भी उन्हें कॉपी करता था। 

श्रीसंत ने कहा, 'उनका कहना है कि जनार्दन ने कहा था कि मैं सिगनल के तौर पर आर्मबैंड या तौलिये जैसी कोई चीज रखूंगा। बल्कि ऐसी चीजें इसलिए रखता था क्योंकि डॉनल्ड ऐसा करते थे।' 

उन्होंने कहा, 'मैं पहले भी ऐसा कर चुका हूं। मैं या यो अपने चेहरे पर डॉनल्ड की तरह बहुत ज्यादा जिंक ऑक्साइड लगाता था। क्या इसका अर्थ यह है कि वे मैच भी फिक्स थे? क्या अंधविश्वासी होना अपराध है? मुझे लगता है कि जब मैं बुरे गेंदबाजी दौर से गुजर रहा था तो इस चीज ने मुझे काफी मदद की। दरअसल, मैंने पहले ही ओवर में अंपायर कुमार धर्मसेना से पूछा था कि क्या मैं तौलिया लटका सकता हूं। बेशक स्टंप माइक्रोफोन में यह बात जरूर आई होगी। 

2013 में आईपीएल में स्पॉट फिक्सिंग के कथित आरोपों के चलते श्रीसंत पर आजीवन प्रतिबंध लगा दिया गया था। आरोप था कि वह जनार्दन नाम के बुकी के काफी करीब थे। यह भी आरोप था कि जनार्दन ने उन्हें आईपीएल के दौरान किसी खास ओवर में कुछ खास रन देने पर पैसे देने का वादा किया था।


अधिक खेल की खबरें