बवाना उपचुनाव: सुस्त रफ्तार से हो रहे मतदान
सुबह कुछ मतदान केंद्रों में ईवीएम से संबंधित दिक्कतें आईं, लेकिन उन्हें सुलझा लिया गया।


नई दिल्ली : दिल्ली के बवाना विधानसभा क्षेत्र के लिए बुधवार को हो रहे उपचुनाव में मतदान सुस्त रफ्तार से शुरू हुआ और पहले 1 घंटे में केवल 5 प्रतिशत लोगों ने वोट डाले। सुबह 11 बजे तक 17.25 फीसदी मतदान हुआ। उपचुनाव के लिए मतदान सुबह आठ बजे शुरू हुआ। इस चुनाव में बीजेपी, आप और कांग्रेस के बीच त्रिकोणीय मुकाबला है। 

एक वरिष्ठ चुनाव अधिकारी ने कहा, ' सुबह कुछ मतदान केंद्रों में ईवीएम से संबंधित दिक्कतें आईं, लेकिन उन्हें सुलझा लिया गया। मतदान सुचारू रूप से चल रहा है और सुबह 9 बजे तक करीब 5 फीसदी मतदान हुआ।' इस उपचुनाव में 2.94 लाख से अधिक मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग कर सकते हैं। सभी मतदान केंद्रों पर इस्तेमाल की जा रही ईवीएम में वोटर वेरीफाइएबल पेपर ऑडिट ट्रेल (वीवीपीएटी) की व्यवस्था है।

विधानसभा की यह सीट उत्तर-पश्चिमी दिल्ली में आती है और अनुसूचित जाति के उम्मीदवार के लिए आरक्षित है। कुल 379 मतदान केंद्रों पर हो रहे इस चुनाव में आठ उम्मीदवार मैदान में हैं। मतगणना 28 अगस्त को होगी। इस उपचुनाव को तीनों ही दल अपने राजनीतिक प्रभाव के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण मान रहे हैं। क्षेत्र में पुरष मतदाताओं की संख्या 1,64,114, महिला मतदाताओं की संख्या 1,30,143 और तीसरे लिंग के मतदाताओं की संख्या 25 है।

प्रत्येक मतदान केंद्र पर मतदाताओं की औसत संख्या 776 है। इस निर्वाचन क्षेत्र में 379 मतदान केंद्रों में से 311 पर 1,000 से भी कम पंजीकृत मतदाता है जबकि 68 पर 1,000 से ज्यादा पंजीकृत मतदाता हैं। दिल्ली में वर्ष 2013 और 2015 में विधानसभा चुनाव के लिए कुल मतदान प्रतिशत क्रमश: 65.63 और 67.12 था। उस वर्ष बवाना निर्वाचन क्षेत्र में मतदान प्रतिशत 61.14 और 61.83 फीसदी था। 


अधिक देश की खबरें