कल्याण सिंह के फोटो छपे होर्डिंग पर कांग्रेस, सपा ने किया विरोध
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दानशीलता को जीवन का आनंददायक अनुभव बताते हुए युवकों को इसके लिए अधिक प्रोत्साहित करने का आह्वान किया।


नई दिल्ली :  प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दानशीलता को जीवन का आनंददायक अनुभव बताते हुए युवकों को इसके लिए अधिक प्रोत्साहित करने का आह्वान किया। आकाशवाणी पर अपने मासिक कार्यक्रम मन की बात में मोदी ने देश के कई शहरों में दो से आठ अक्टूबर तक मनाए जाने वाले ज्वाय आफ गिविंग वीक का उल्लेख करते हुए कहा कि यह एक प्रकार का दान उत्सव है, जिसके लिए नौजवानों को प्रोत्साहित किया जाना चाहिए। 

उन्होंने इस कार्य में लगे युवकों को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि जीवन में देने का अपने-आप में एक आनंद होता है, चाहे कोई उसे मान्यता दे या न दे। देने की खुशी अद्भुत होती है।इस संदर्भ में प्रधानमंत्री ने गैस सब्सिडी छोडने की अपील का जिक्र करते हुए कहा कि जब उन्होंने यह अपील की तो देशवासियों ने इस पर जो सकारात्मक प्रतिक्रिया दी, वह देश के राष्ट्रीय जीवन की एक बड़ी प्रेरक घटना थी। उन्होंने कहा कि इन दिनों हमारे देश में कई नौजवान, छोटे-मोटे संगठन, कारपोरेट जगत और स्कूलों के लोग तथा कुछ गैर सरकारी संगठन मिल करके दो अक्टूबर से आठ अक्टूबर कई शहरों में ज्वाय आफ गिविंग वीक मनाने वाले हैं।

 इसके अंतर्गत खाने का सामान और कपड़े एकत्र कर-कर जरूरतमंद लोगों तक पहुंचाने का उनका अभियान है। मोदी ने इस संदर्भ में अपने उन दिनों को याद किया, जब वह गुजरात में थे, उस समय किस प्रकार कार्यकर्ता गलियों में निकलते थे और परिवारों के पास जो पुराने खिलौने होते थे, उसे दान में मांगते थे और जो खिलौने आते थे, उन्हें गरीब बस्ती की आंगनबाड़ी में भेंट देते थे। उन्होंने कहा कि उस समय खिलौने मिलने पर उन $गरीब बालकों का आनंद देखकर जो खुशी महसूस होती थी, उसे शब्दों में नहीं बताया जा सकता है।


अधिक देश की खबरें