देश में अवसाद से ग्रस्त हैं 6 करोड़ लोग, ये है बड़ा कारण

देश में अवसाद से ग्रस्त हैं 6 करोड़ लोग, ये है बड़ा कारण

भारत में 6 करोड़ लोग मनोरोग एवं अवसाद से ग्रस्त हैं.

संस्कार और भजन-कीर्तन दूर कर सकते हैं डिप्रेशन

संस्कार और भजन-कीर्तन दूर कर सकते हैं डिप्रेशन

भजन-कीर्तन सुनना स्ट्रेस बस्टर का करता है कार्य

सोशल मीडिया ऐप्स मेंटल हेल्थ के लिए नुकसान दायक

सोशल मीडिया ऐप्स मेंटल हेल्थ के लिए नुकसान दायक

खूबसूरत दिखने की चाह मे बढ़ता है डिप्रेशन

किशोरों के लिये स्कूल बन सकता है 'डिप्रेशन' का कारण

किशोरों के लिये स्कूल बन सकता है 'डिप्रेशन' का कारण

यह शोध जर्नल स्लीप हेल्थ में प्रकाशित हुआ है.

कैंसर और गठिए जैसी बड़ी-बड़ी कई बीमारियों को छोटी-सी काली मिर्च करेगी दूर

कैंसर और गठिए जैसी बड़ी-बड़ी कई बीमारियों को छोटी-सी काली मिर्च करेगी दूर

काली मिर्च का इस्तेमाल खाने का स्वाद बढ़ाने के लिए किया जाता है लेकिन

फेसबुक की तस्वीरों से ही पता लग जाएगा आप डिप्रेशन में हैं या नहीं

फेसबुक की तस्वीरों से ही पता लग जाएगा आप डिप्रेशन में हैं या नहीं

आपकी सोशल मीडिया की पोस्ट के जरिए अवसाद का पता लगा सकता है.

जानिये क्यों हर 5 में से 1 शख्स को सेक्स में नहीं है दिलचस्पी

जानिये क्यों हर 5 में से 1 शख्स को सेक्स में नहीं है दिलचस्पी

सेक्स से परहेज करने के पीछे सबसे बड़ा कारण मेडिकल प्रॉब्लम्स है।

कपिल शर्मा के शो में नया बवाल, भारती से इस कलाकार की हुई सेट पर लड़ाई

कपिल शर्मा के शो में नया बवाल, भारती से इस कलाकार की हुई सेट पर लड़ाई

कॉमेडियन कपिल शर्मा और उनके शो द कपिल शर्मा शो के सितारे

गर्मियों में रात को नहीं आती नींद तो खाएं ये आहार

गर्मियों में रात को नहीं आती नींद तो खाएं ये आहार

गर्मी के मौसम मेें बहुत से लोगों को भूख न लगने और नींद न आने

कहीं आपके बच्चे की पढ़ाई में कमजोर होने की वजह ये तो नहीं

कहीं आपके बच्चे की पढ़ाई में कमजोर होने की वजह ये तो नहीं

माता-पिता बच्चे के सबसे पहले गुरू होते हैं

अवसाद को नियंत्रित करने लिये करें फेसबुक, ट्विटर का इस्तेमाल

अवसाद को नियंत्रित करने लिये करें फेसबुक, ट्विटर का इस्तेमाल

फेसबुक और ट्विटर अवसाद को नियंत्रित करने का एक साधन हो सकता है।

धूप में निकलें और करें डिप्रेशन को दूर

धूप में निकलें और करें डिप्रेशन को दूर

भागदौड़ भरी इस लाइफ में किसी के पास एक दूसरे से बात तक करने का समय नहीं है। बस एक दूसरे से आगे निकलने की होड़ लगी रहती है। मनुष्य ने अपना लाइफ स्टाइल ही बदल दिया है। ऐसे लाइफ स्टाइल में वर्तमान परवेश में डिप्रेशन एक गंभीर समस्या बन चुका है।