राहुल गांधी ने दान के लिए निकाला 500 का नोट, सिंधिया की बात सुन जेब में वापस डाला

राहुल गांधी ने दान के लिए निकाला 500 का नोट, सिंधिया की बात सुन जेब में वापस डाला

ग्वालियर-चंबल अंचल के दौरे पर आए कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी को आचार संहिता उल्लंघन के डर के कारण अजीबोगरीब स्थिति का सामना करना पड़ा. दरअसल राहुल गांधी मंगलवार को गुरुद्वारे में मत्था टेकने पहुंचे थे, वहां राहुल ने मत्था टेका और दानपात्र में डालने के लिए अपनी जेब से पांच सौ रुपये का नोट निकाला.

वो 30 सीटें जो बिगाड़ सकती हैं MP में बीजेपी का खेल!

वो 30 सीटें जो बिगाड़ सकती हैं MP में बीजेपी का खेल!

मध्य प्रदेश का विंध्य जिसे बघेलखंड के नाम से भी जाना जाता है, देश का शायद इकलौता ऐसा इलाका है जहां कुल आबादी का सबसे बड़ा हिस्सा सवर्ण जातियां हैं. इस इलाके के सतना और रीवा जिले की कुछ विधानसभा सीटों पर तो सिर्फ ब्राह्मणों की आबादी 40% भी पार कर जाती है. रीवा के 'सफ़ेद शेर' के नाम से मशहूर कांग्रेसी नेता श्रीनिवास तिवारी यहां के सबसे बड़े ब्राह्मण लीडर माने जाते थे.

बुंदेलखंड: गुटबाजी में फंसी बीजेपी-कांग्रेस, सूखा और बेरोज़गारी की चिंता कौन करे?

बुंदेलखंड: गुटबाजी में फंसी बीजेपी-कांग्रेस, सूखा और बेरोज़गारी की चिंता कौन करे?

सूखा, फसल बर्बादी, किसान आत्महत्या, पीने के पानी की किल्लत और बेरोज़गारी जैसे शब्द बुंदेलखंड की पहचान के साथ इतना जुड़ गए हैं कि जब तक इस इलाके में ऐसा कुछ न हो नेशनल मीडिया में यहां से जुड़ी ख़बरें जगह भी नहीं बना पाती हैं

ग्वालियर: हिंदू महासभा के गढ़ में अटल भी नहीं जीत पाए थे सिंधिया का किला

ग्वालियर: हिंदू महासभा के गढ़ में अटल भी नहीं जीत पाए थे सिंधिया का किला

ग्वालियर का जय विलास महल हमेशा से ही मध्य प्रदेश की राजनीति के केंद्र में रहा है. आज़ादी के बाद यही महल रजवाड़ों की राजनीति का गढ़ था. ये वो लोकसभा सीट है जहां देश के पहले आम चुनावों में हिंदू महासभा के उम्मीदवार ने जीत दर्ज की थी

चंबल: ठाकुर बनाम ब्राह्मण है लड़ाई, हर सीट पर बदल जाता है जातीय समीकरण

चंबल: ठाकुर बनाम ब्राह्मण है लड़ाई, हर सीट पर बदल जाता है जातीय समीकरण

चंबल नदी राजस्थान के कोटा से श्योपुर में दाखिल होती है फिर मुरैना, भिंड से होते हुए यूपी के इटावा में 5 नदियों समेत यमुना में मिल जाती है. इसी नदी के किनारे-किनारे ही चंबल वैली मौजूद है. चंबल इलाके में श्योपुर, मुरैना और भिंड कुल तीन जिले आते हैं. इन तीन जिलों में विधानसभा की 13 सीटें हैं, जिनमें से 8 बीजेपी, 3 कांग्रेस और 2 बसपा के पास हैं.

OPINION: आंतरिक कलह के बीच MP में कांग्रेस को सत्ता दिला पाएगा राहुल का 'सॉफ्ट हिंदुत्व'?

OPINION: आंतरिक कलह के बीच MP में कांग्रेस को सत्ता दिला पाएगा राहुल का 'सॉफ्ट हिंदुत्व'?

मध्य प्रदेश में चुनावी शंखनाद के लिए राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जन्मदिन यानी 17 सितंबर का दिन चुना और प्रदेश में चुनावी बिगुल फूंक दिया. 21 पंडितों के मंत्रोच्चार और 11 कन्याओं की आरती के बाद शुरू हुए राहुल गांधी के इस रोड शो से यह साफ जाहिर हो गया कि गुजरात की तरह मध्य प्रदेश में भी कांग्रेस सॉफ्ट हिंदुत्व के मंत्र पर ही चुनाव लड़ेगी.