नौकरी करने वालों के लिए खुशखबरी! ग्रेच्युटी की सीमा बढ़कर हुई 20 लाख, जानें इससे जुड़ी सभी बातें

नौकरी करने वालों के लिए खुशखबरी! ग्रेच्युटी की सीमा बढ़कर हुई 20 लाख, जानें इससे जुड़ी सभी बातें

वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने अंतिम बजट में वेतनभोगियों को बड़ी खुशखबरी दी है. गोयल ने ग्रेच्युटी भुगतान सीमा को 10 लाख रुपये से 20 लाख रुपये कर दिया गया है. इसका मतलब यह है कि अब लगभग पांच साल के बाद नौकरी छोड़ने पर मिलने वाली अधिकतम 10 लाख रुपये की राशि को बढ़ाकर अधिकतम 20 लाख रुपये कर दिया गया है.

Budget 2019: किसानों को मोदी सरकार की घोषणा से ज्यादा पहले से ही दे रही हैं ये राज्य सरकारें

Budget 2019: किसानों को मोदी सरकार की घोषणा से ज्यादा पहले से ही दे रही हैं ये राज्य सरकारें

नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार के मौजूदा कार्यकाल के अंतिम बजट में किसानों को लुभाने के लिए उनके खाते में 6000 रुपये सालाना सीधे बैंक खाते में डालने का दांव चला गया है. लेकिन इस घोषणा से पहले ही दो सरकारें किसानों को इससे अधिक की सहायता दे रही हैं.

सरकार के बजट में दिखा 'सबका विकास', मिशन 272 को साधने की कोशिश

सरकार के बजट में दिखा 'सबका विकास', मिशन 272 को साधने की कोशिश

लोकसभा चुनाव से पहले मतदाताओं तक अपनी पहुंच पुख्ता करने के लिए मोदी सरकार ने शुक्रवार को अंतरिम बजट के दौरान लगभग हर वर्ग को लुभाने की कोशिश की. एक तरफ छोटे और सीमान्त किसानों के लिए पीएम किसान सम्मान निधि की शुरुआत की गई और असंगठित श्रमिकों के​ लिए पेंशन योजना का ऐलान किया गया. वहीं 5 लाख रुपये तक सालाना कमाई करने वाले नौकरीपेशा लोगों को टैक्स से छूट देने का वादा किया गया.

Budget 2019: सीएम योगी ने की सराहना, कहा- न्यू इंडिया के सपने को पूरा करने वाला

Budget 2019: सीएम योगी ने की सराहना, कहा- न्यू इंडिया के सपने को पूरा करने वाला

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को पेश किए गए अंतरिम बजट को स्वतंत्र भारत का सबसे बेहतरीन बजट बताते हुए कहा कि यह न्यू इंडिया के सपने को पूरा करेगा. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किसानों, मजदूरों और मिडिल क्लास को राहत देने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बधाई भी दी.

Budget 2019: सपा ने कहा- विदाई के वक्त एक बार फिर जनता को गुमराह करने की हुई कोशिश

Budget 2019: सपा ने कहा- विदाई के वक्त एक बार फिर जनता को गुमराह करने की हुई कोशिश

मोदी सरकार के आखिरी बजट पर हमला करते हुए समाजवादी पार्टी ने कहा कि इसमें कुछ भी नया नहीं है. केंद्र की मोदी सरकार ने एक बार फिर जनता को गुमराह करने की कोशिश की गई है. चुनाव से पहले यह जनता को भ्रमित करने की साजिश है.

Budget 2019: पांच लाख रुपये तक की सालाना कमाई पर टैक्स छूट के फायदे को इस तरह समझिए!

Budget 2019: पांच लाख रुपये तक की सालाना कमाई पर टैक्स छूट के फायदे को इस तरह समझिए!

मोदी सरकार ने 5 लाख रुपये तक की सालाना आय पर टैक्स नहीं लगाने का एलान किया है. अब तक 2.5 लाख रुपये पर ही यह छूट थी. टैक्स के जानकारों का कहना है कि टैक्स छूट सीमा सीधे डबल होने से इस लिमिट में आने वाले हर करदाता को करीब 13 हजार रुपये का फायदा होगा

बजट (Budget) 2019: फिर आई मोदी सरकार तो 5 लाख तक की इनकम होगी टैक्स फ्री'

बजट (Budget) 2019: फिर आई मोदी सरकार तो 5 लाख तक की इनकम होगी टैक्स फ्री'

5 लाख तक तक कमाई वालों को टैक्स से पूरी तरह छूट दे दी गई है. इससे पहले अभी तक किसी भी अंतरिम बजट में टैक्स स्लैब में बदलाव नहीं किया गया था. इससे पहले 2.5 लाख तक तक कोई टैक्स नहीं था.

Budget 2019: बजट में मजदूरों को मोदी सरकार का गिफ्ट, हर माह देगी 3000 रुपये पेंशन

Budget 2019: बजट में मजदूरों को मोदी सरकार का गिफ्ट, हर माह देगी 3000 रुपये पेंशन

वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने अंतरिम बजट में प्रधानमंत्री श्रमयोगी मानधन नाम से मजदूरों के लिए पेंशन योजना का ऐलान किया. इस योजना के तहत 15000 रुपये मंथली सैलरी पाने वाले लोग इसका लाभ उठा पाएंगे.

Budget 2019: किसानों को पीएम मोदी का तोहफा, सीधे अकाउंट में डालेगी 6000 रुपये

Budget 2019: किसानों को पीएम मोदी का तोहफा, सीधे अकाउंट में डालेगी 6000 रुपये

केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने 2019 के लोकसभा चुनावों से पहले अपना आखिरी बजट लोकसभा में पेश कर दिया. अंतरिम वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने बजट भाषण में दावा किया कि 2022 तक देश के सभी लोगों के पास घर और टॉयलेट होगा, इसके साथ ही किसानों की आय भी दोगुनी हो जाएगी.

पीयूष गोयल आज पेश करेंगे आम बजट 2019, हो सकती है ये घोषणाएं

पीयूष गोयल आज पेश करेंगे आम बजट 2019, हो सकती है ये घोषणाएं

मोदी सरकार शुक्रवार (1 फरवरी) को संसद में अंतरिम बजट पेश करने जा रही है. लोकसभा में अरुण जेटली की जगह वित्त मंत्रालय संभाल रहे पीयूष गोयल इस बार बजट स्पीच पढ़ेंगे. परंपरा के मुताबिक, चुनाव के बाद आने वाली सरकार ही पूर्ण बजट पेश करेगी.