सूबे में सत्ता परिवर्तन और नई सरकार के कार्यभार ग्रहण करने के बाद राजधानी में भी इसका असर देखने को मिल रहा है।