धर्मशाला। तिब्बत के निर्वासित प्रधानमंत्री लोबसांग सांगय ने गुरुवार को चीन की भ्रामक नीतियों के खिलाफ नई दिल्ली को चेताया और कहा कि जो तिब्बत के साथ हुआ वह भारत के साथ भी हो सकता है।