INDvsSA: 'मिताली ब्रिगेड', पहले मैच में दी थी 88 रनों से मात
इस चैंपियनशिप के जरिये टीमों को 2021 आईसीसी महिला विश्व कप के लिए सीधे क्वालीफाई करने का मौका मिलेगा.


किंबर्ले : सीरीज के पहले मैच में बड़ी जीत से उत्साहित भारतीय महिला क्रिकेट टीम आज (7 फरवरी) दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ दूसरे एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में जीत के साथ तीन मैचों की सीरीज में विजयी बढ़त लेने के इरादे से उतरेगी. विश्व कप के फाइनल में जगह बनाने के सात महीने बाद खेल रही भारतीय महिला टीम ने कोई कोताही नहीं बरती और कल पहले वनडे में दक्षिण अफ्रीका को आसानी से 88 रन से हरा दिया. तीन मैचों की यह सीरीज आईसीसी महिला चैंपियनशिप के पहले दौर का मुकाबला भी है. इस चैंपियनशिप के जरिये टीमों को 2021 आईसीसी महिला विश्व कप के लिए सीधे क्वालीफाई करने का मौका मिलेगा.

विश्व कप में उप विजेता रही भारतीय टीम ने इसके बाद कल तक कोई अंतरराष्ट्रीय मैच नहीं खेला क्योंकि बीसीसीआई ने टीम के खेलने की कोई योजना ही नहीं बनाई थी. दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मौजूदा सीरीज को टीम के लय में लौटने के लिए महत्वपूर्ण माना जा रहा है.

पहले वनडे में हालांकि भारतीय टीम में मैच अभ्यास की कोई कमी नहीं दिखी और टीम ने सभी विभाग में अच्छा प्रदर्शन करते हुए मेजबान टीम को पछाड़ दिया.

भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए बाएं हाथ की बल्लेबाज स्मृति मंधाना (98 गेंद में 84 रन) के अर्धशतक और कप्तान मिताली राज की 45 रन की पारी की बदौलत सात विकेट पर 213 रन बनाए और फिर तेज गेंदबाजों झूलन गोस्वामी (24 रन पर चार विकेट) और शिखा पांडे (23 रन पर तीन विकेट) की बदौलत दक्षिण अफ्रीका को 125 रन पर ढेर कर दिया. 

दूसरी तरफ दक्षिण अफ्रीका की टीम 43 .2 ओवर में सिमटने के बाद निराश होगी. लक्ष्य का पीछा करने उतरी दक्षिण अफ्रीका की टीम ने 23 तक ही ही लिजेल ली (03), तृषा चेट्टी (05) और मिगनोन डु प्रीज (00) के विकेट गंवा दिए. कप्तान डेन वान नीकर्क (41) ही टिककर बल्लेबाजी कर पाई लेकिन उन्हें दूसरे छोर से साथ नहीं मिला. लारा वोलवार्ट (21), मारिजेन कैप (23) और स्युन लुस (नाबाद 21) अच्छी शुरुआत का फायदा उठाने में नाकाम रहीं.

मिताली राज के दूसरे विकेट के लिए 99 रन जोड़ने के बाद मेजबान टीम को कैप और अयाबोंगा खाकर ने दो-दो विकेट चटकाकर वापसी दिलाई थी लेकिन टीम इसका फायदा नहीं उठा पाई. 

अधिक खेल की खबरें

किसान के बेटे सौरभ चौधरी ने 2 दिन में तीसरी बार लगाया गोल्ड पर निशाना, मनु भाकर के साथ मिलकर बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड..

पिता किसान हैं लेकिन बेटा गोल्ड पर निशाना लगाकर हिंदुस्तान का नाम रोशन कर रहा है. हम ......