INDvsENG: लॉर्ड्स टेस्ट में जीतेगा भारत, इसके पीछे ये हैं तीन बड़ी वजह
File Photo


बर्मिंघम : इंग्लैंड में भारत और इंग्लैंड के बीच जारी पांच टेस्ट मैचों की सीरीज के पहले मैच में टीम इंडिया की नजदीकी हार के बाद, अब सबकी निगाहें गुरूवार से शुरू हो रहे इस सीरीजके दूसरे टेस्ट पर हैं जो कि मशहूर लॉर्ड्स के मैदान पर खेला जाएगा. इस मैदान पर टीम इंडिया पिछली बार टीम इंडिया ने जीत दर्ज की थी. हालांकि इस सदी में इस मैदान पर भारत को दो बार हार का सामना कर पड़ा और एक बार मैच ड्रॉ भी रहा. लेकिन जब भी (दो बार) यहां सीरीज का दूसरा टेस्ट हुआ है टीम इंडिया मुकाबले में हारी नहीं है जबकि एक बार जीती है. 

लॉर्ड्स में टीम इंडिया की जीत के कई फैक्टर हैं जिनमें तीन खास हैं. वे हैं ईशांत शर्मा, रविचंद्रन अश्विन और विराट कोहली. इन तीनों ने ही पहले टेस्ट में शानदार प्रदर्शन किया था और लॉर्ड्स में इंग्लैंड के पास इनका तोड़ होना बहुत मु्श्किल होगा.  पहले टेस्ट में नजदीकी हार से विराट कोहली निराश नहीं हैं. उनके मिजाज को देखते हुए कोई शक नहीं कि वे दुगने उत्साह से वापसी करने का जोर लगा देंगे. 

एजबेस्टन टेस्ट में भारत के तेज गेंदबाजों खासकर ईशांत शर्मा ने खासा प्रभावित किया इंग्लैंड की कंडीशन्स का फायदा उठा कर इंग्लैंड को उन्हीं के हथियार से चोट पहुंचाई. ईशांत की घातक गेंदबाजी की बदौलत ही इंग्लैंड की दूसरी पारी में एक समय स्कोर 7 विकेट पर केवल 87 रन हो गया था. ईशांत ने इस पारी में पांच विकेट लिए थे और मैच में कुल 6 विकेट लिए थे. 

ईशांत लॉर्ड्स के मैदान पर शानदार प्रदर्शन कर चुके है. ईशांत की शानदार गेंदबाजी के दम पर ही टीम इंडिया ने 2014 के इंग्लैंड दौरे के दूसरे टेस्ट मैच में जीत हासिल की थी. कड़े मुकाबले में ईशांत ने दूसरी पारी में सात विकेट झटके थे जिससे की टीम इंडिया को इस मैच में इंग्लैंड को 319 रनों का लक्ष्य दिया था. चौथे दिन का खेल खत्म होने तक 105 रन बनाते बनाते चार विकेट खो दिए थे जिसमें से फॉर्म में चल रहे एलिस्टर कुक और इयान बेल को ईशान शर्मा ने आउट किया था.  इसके बाद खेल के आखिरी दिन पहले सत्र में जो रूट और मोईन अली ने कोई विकेट गिरने नहीं दिया और लंच तक इंग्लैंड का स्कोर 173 तक पहुंचा दिया था.
 
लंच के बाद एक बार फिर ईशांत शर्मा ने भारत को सफलता दिलाई जब उनकी बाउंसर पर मोईन अली फॉरवर्ड शॉर्ट  लेग पर खड़े चेतेश्वर पुजारा को कैच दे बैठे. इसके बाद ईशांत ने अपनी शॉर्ट गेंद पर ही मैट प्रायर, बेन स्टोक्स और जो रूट के अहम विकेट लेकर अपने करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए 74 रन देकर 7 विकेट लिए. ईशांत की गेंदाबाजी की बदौलत इंग्लैंड टीम 233 रनों पर ही सिमट गई जिससे टीम इंडिया ने यह मैच 95 रन से जीत लिया. ईशांत के इस प्रदर्शन की बदौलत उन्हें लॉर्ड के मैदान पर मैन ऑफ द मैच का खिताब मिला. इस बार भी उम्मीद की जा रही है कि ईशांत लॉर्ड्स जैसा प्रदर्शन दोहरा पाएंगे. 

अश्विन ने पहले टेस्ट में शानदार गेंदबाजी की और जहां पहली पारी में चार विकेट लिए वहीं दूसरी पारी में तीन विकेट लिए. इसके अलावा अश्विन ने दोनों ही पारियों में एलिस्टर कुक के एक ही तरीके से बोल्ड कर सनसनी फैला दी थी. दूसरी पारी में उन्होंने केटन जेनिंग्स और जो रूट को सस्ते में आउट कर दिया था. अश्विन इस मैच में सबसे ज्यादा 7 विकेट लेकर सबसे सफल गेंदबाज रहे थे. वे भी लॉर्डस में इंग्लैंड के गेंदबाजों के लिए पहेली ही बने रहेंगे. 

विराट कोहली का चल रहा है तूफानी फॉर्म
पहले मैच में विराट कोहली ने भी शानदार बल्लेबाजी करते हुए पहली पारी में 149 रन और दूसरी पारी में 51 रनों की पारी खेली. पहली पारी में वे आखिरी में आउट हुए तो दूसरी पारी में वे सातवें विकेट के रूप में आउट हुए थे. पहली पारी में विराट ने अकेले 149 रनों की पारी खेलते हुए टीम के आधे से ज्यादा रन खुद ही बना डाले. जिनमें 22 चौके और एक छक्का शामिल था.  विराट का यह फॉर्म निश्चित रूप से इंग्लैंड के लिए एक बड़े खतरे की घंटी होगी. इंग्लैंड टीम में विराट का खौफ खत्म होने की उम्मीद कम ही है. 

अधिक खेल की खबरें