विराट कोहली नहीं ये खिलाड़ी दिलाएंगे टीम इंडिया को ऑस्ट्रेलिया में ऐतिहासिक जीत!
File Photo


विराट कोहली ने साउथ अफ्रीका में रन बनाए लेकिन टीम इंडिया ने टेस्ट सीरीज गंवाई. विराट कोहली ने इंग्लैंड में रन बनाए, लेकिन भारत फिर सीरीज हारा. अब बारी ऑस्ट्रेलिया की है और यकीन मानिए सिर्फ विराट कोहली के रन बनाने से यहां भी टीम इंडिया को जीत नहीं मिलने वाली. अब सवाल ये है कि जीत मिलेगी कैसे? हम आपको बताते हैं कि टीम इंडिया कैसे इतिहास रच सकती है. ऑस्ट्रेलिया में जीत की चाभी है टीम इंडिया के गेंदबाज, जो कि 20 विकेट लेकर सीरीज भारत की झोली में डाल सकते हैं. हालांकि इसके लिए टीम इंडिया के बल्लेबाजों को भी अच्छा प्रदर्शन करना होगा, ताकि गेंदबाजों को 20 विकेट लेने का आधार मिल सके.

क्या कहते हैं एक्सपर्ट?
के श्रीकांत ने एक न्जीजी न्यूज चैनल के खेल संपादक विमल कुमार से खास बातचीत में इसी बात का जिक्र किया है. 'परंपरा रही है कि हम ऑस्ट्रेलिया में अच्छे प्रदर्शन के लिए अपने बल्लेबाजों पर निर्भर रहे हैं. हालांकि अब तस्वीर बदल गई है. अब ऑस्ट्रेलिया में जीत की कड़ी गेंदबाजी होगी.'

वेस्टइंडीज के पूर्व कप्तान कार्ल हूपर ने भी विमल कुमार से यही बात कही. उन्होंने बयान दिया, 'भारतीय बल्लेबाजों ने इंग्लैंड में निराशाजनक प्रदर्शन किया था. मैं 600-700 रनों की बात नहीं कर रहा हूं लेकिन टीम इंडिया के बल्लेबाजों को पहली पारी में कम से कम 400-500 रन बनाने होंगे ताकि गेंदबाज 20 विकेट लेकर आपको टेस्ट मैच जिता सकें.'

भारत ने ऑस्ट्रेलिया में कभी सीरीज नहीं जीती है. उसे ऑस्ट्रेलियाई सरजमीं पर 44 टेस्ट मैचों में से 28 में हार मिली है. जबकि उसने सिर्फ 7 मैच ड्रॉ कराए हैं और महज 5 टेस्ट में उसे जीत मिली है. इनमें से भी दो जीत तब मिली थी जब उनके बेस्ट खिलाड़ी कैरी पैकर में खेल रहे थे और पूर्व कप्तान बॉम सिम्पसन को 41 साल की उम्र में कप्तानी के लिए कहा गया था.

पिछले दो दौरों पर एक भी जीत नहीं
ऑस्ट्रेलियाई धरती पर टीम इंडिया ने पिछले दो दौरों पर एक भी जीत हासिल नहीं की है. साल 2011-12 में टीम इंडिया का 0-4 से क्लीन स्वीप हुआ. वहीं साल 2014-15 में टीम इंडिया ने दो मैच गंवाए और दो मुकाबले ड्रॉ रहे. हालांकि ये डरावना इतिहास इस दौरे पर बदल सकता है. पिछले 10 सालों में ऑस्ट्रेलिया को उसकी धरती पर 3 बार हराकर साउथ अफ्रीका ने इस भ्रम को तोड़ दिया है कि ऑस्ट्रेलिया को उसके घर पर नहीं हराया जा सकता. मतलब भारतीय टीम के पास भी ऑस्ट्रेलिया में पहली बार तिरंगा लहराने का मौका है.

स्टोरी सोर्स : न्यूज़ 18 हिंदी 

अधिक खेल की खबरें