श्री लंका के खिलाफ भारत की निगाह सेमीफाइनल पर
श्रीलंका के लिये यह करो या मरो जैसा मैच है और वह इसमें कोई कसर नहीं छोड़ेगा।


लंदन : चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान पर बड़ी जीत दर्ज करके आत्मविश्वास से भरी भारतीय टीम गुरुवार को ओवल में श्रीलंका के खिलाफ भी जीत का क्रम जारी रखना चाहेगी। अपने अच्छे प्रदर्शन को दोहराकर आईसीसी चैंपियन्स ट्रोफी के सेमीफाइनल में अपनी जगह पक्की करना ही टीम इंडिया का लक्ष्य होगा। मौजूदा चैंपियन भारत ने कप्तान विराट कोहली और कोच अनिल कुंबले के बीच मतभेदों की खबरों को पीछे छोडकर बर्मिंगम में खेले गए ग्रुप बी के अपने पहले मैच में पाकिस्तान को 124 रन से हराकर अपने अभियान की शानदार शुरुआत की है। 

भारत ने बारिश से प्रभावित इस मैच में 48 ओवरों में तीन विकेट पर 319 रन बनाये और बाद में जब पाकिस्तान के सामने 289 रन का लक्ष्य था तब उसकी पूरी टीम 164 रन पर ढेर कर दी। दूसरी तरफ श्री लंका की टूर्नमेंट में शुरुआत निराशाजनक रही। दक्षिण अफ्रीका ने ओवल में खेले गये मैच में उसे 96 रन से करारी शिकस्त दी। उसके गेंदबाज प्रभाव छोडने में नाकाम रहे जबकि मध्यक्रम के बल्लेबाज अपेक्षाओं पर खरे नहीं उतरे। 

भारत के लिये एकमात्र चिंता यहां का अचानक बदलता मौसम है। मौसम की भविष्यवाणी के अनुसार गुरुवार को भारी बारिश होने की 40 प्रतिशत संभावना है। वर्तमान फॉर्म और टीम संयोजन को देखते हुए भारत का पलड़ा भारी नजर आता है, लेकिन कोहली जानते हैं कि किसी तरह की आत्ममुग्धता में रहना टीम पर भारी पड़ सकता है। एकदिवसीय क्रिकेट में परिदृश्य बदलने में देर नहीं लगती है।

श्रीलंका के लिये यह करो या मरो जैसा मैच है और वह इसमें कोई कसर नहीं छोड़ेगा। पाकिस्तान पर जीत से भारत का आत्मविश्वास बढ़ा है, लेकिन कोहली का मानना है कि टूर्नमेंट का हर मैच महत्वपूर्ण है और टीम को मैदान पर अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना होगा। कोहली ने कहा, 'टूर्नामेंट का प्रत्येक मैच महत्वपूर्ण है, लेकिन हमारी टीम में कुछ युवा खिलाड़ी हैं जिन्होंने अपने शानदार प्रदर्शन से टीम में जगह मजबूत की है। टीम के लिहाज से पाकिस्तान पर जीत बेहद महत्वपूर्ण है। यह हमारे लिये बड़ी जीत थी। हमने पूरे मैच में आत्मविश्वास दिखाया। '

अधिक खेल की खबरें