चैंपियंस ट्रोफी: साउथ अफ्रीका पर भारत की आसान जीत, सेमीफाइनल में पहुंचा
चैंपियंस ट्रोफी में भारत ने साउथ अफ्रीका को 8 विकेट से हराकर टूर्नमेंट के सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया है।


लंदन : चैंपियंस ट्रोफी में भारत ने साउथ अफ्रीका को 8 विकेट से हराकर टूर्नमेंट के सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया है। अब सेमीफाइनल में उसे बांग्लादेश से भिड़ने की संभावना है। इस मैच में टॉस जीतकर पहले बोलिंग करने उतरी टीम इंडिया ने अफ्रीकी टीम को 191 रन पर समेट दिया। इस आसान से लक्ष्य को भारतीय टीम ने 38 ओवर में ही पूरा कर लिया। युवराज सिंह (12*) ने छक्का जड़कर भारत को शानदार अंदाज में जीत दिलाई।

भारत की ओर से शिखर धवन से सबसे ज्यादा 78 रन का योगदान दिया। धवन ने अपनी इस पारी में 12 चौके और 1 छक्का जमाया। शिखर के बाद कप्तान विराट कोहली ने नॉटआउट 76 रन बनाए। विराट ने इस पारी में 7 चौके और 1 छक्का जमाया। शिखर धवन और विराट कोहली के बीच दूसरे विकेट के 128 रन की साझेदारी हुई, जो भारत की जीत में निर्णायक साबित हुई। वहीं 28 रन देकर 2 विकेट लेने वाले तेजगेंदबाज जसप्रीत बुमराह को मैन ऑफ द मैच चुना गया।

इस मैच में रोहित और शिखर की जोड़ी पिछले दो मैचों की तरह कामयाब नहीं हो सकी। रोहित शर्मा (11) रन बनाकर मॉनी मोर्कल की गेंद पर विकेट कीपर डि कॉक के हाथों कैच आउट हो गए। इस समय भारत का स्कोर 23 रन था। इसके बाद कैप्टन विराट कोहली शिखर का साथ देने आए और दोनों ने मिलकर दूसरे विकेट के लिए 128 रन जोड़े। 151 के स्कोर पर जब शिखर (78) आउट हुए तो भारत जीत से ज्यादा दूर नहीं था। बाकी का काम युवराज सिंह ने विराट कोहली के साथ मिलकर पूरा कर दिया।

इससे पहले टॉस जीतकर भारत ने पहले फील्डिंग का फैसला किया। दोनों टीमों के लिए यह मैच क्वॉर्टर फाइनल की तरह था। इस बड़े मैच में साउथ अफ्रीका की टीम दबाव में नजर आई और उसकी पूरी टीम 191 रन साधारण से टोटल पर बिखर गई। साउथ अफ्रीका की टीम ने ओपनर्स क्विंटन डि कॉक (53) और हाशिम अमला (35) की सधी हुई शुरुआत के बदौलत बिना विकेट गंवाए 76 रन जोड़ लिए। इसी स्कोर पर अमला आउट हुए, तो भारतीय टीम ने अफ्रीकी टीम पर अपना हमला तेज कर दिया।

पहले झटके से उबरते हुए डि कॉक और फाफ डु प्लेसिस ने मिलकर 40 रन और जोड़े। इस बीच डि कॉक ने अपनी हाफ सेंचुरी पूरी कर ली। यह डिकॉक के वनडे करियर की 14वीं हाफ सेंचुरी थी। लेकिन हाफ सेंचुरी जड़ने के बाद डि कॉक खतरनाक होते, रविंद्र जाडेजा ने उन्हें बोल्ड कर भारत की झोली में दूसरी सफलता डाल दी। डि कॉक के आउट होने के बाद अफ्रीकी टीम बुरी तरह से बिखर गई और उसका कोई भी बल्लेबाज क्रीज पर ज्यादा देर टिक नहीं सका।

शुरुआती 2 विकेट खो चुकी अफ्रीकी टीम सहज ही दिख रही थी, लेकिन 29वें और 30वें ओवर में टीम इंडिया को डिविलियर्स और मिलर के दो विकेट रन आउट के रूप में उपहार में मिल गए। डिविलियर्स (16) और डेविड मिलर (1) एक के बाद एक रन आउट हो गए। इन लगातार दो झटकों के बाद अफ्रीकी टीम यहां से उबर ही नहीं सकी। इस पारी में उनके कुल 3 बल्लेबाज रन आउट हुए। 

साउथ अफ्रीका की ओर से डि कॉक और अमला के बाद डु प्लेसिस ही एकमात्र ऐसे बल्लेबाज थे, जिन्होंने 30 के पार रन बनाए। अफ्रीकी टीम के 6 बल्लेबाज दहाई का अंक भी नहीं छू पाए, जबकि कैप्टन डिविलियर्स ने 16 और डुमनी ने (20*) का योगदान दिया।

अधिक खेल की खबरें