जाति जनगणना से ही तय हो आरक्षण नयी व्यवस्था : अखिलेश
Akhilesh yadav


लखनऊ, समाजवादी पार्टी के प्रांतीय कार्यालय पर आज जननायक कर्पूरी ठाकुर पर एक संगोष्ठी का आयोजन किया गया। संगोष्ठी के मुख्य अथिति सपा मुखिया व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव रहे। 

जननायक कर्पूरी ठाकुर के चित्र माल्यापर्ण के बाद  संगोष्ठी में आये सविता समाज के लोगों को संबोधित करते हुए अखिलेश ने कहा कि पिछड़ों और कमजोर वर्ग के लोगों के हक की लड़ाई लम्बे समय से लड़ी जा रही है। केन्द्र सरकार द्वारा आरक्षण को अब नए रूप में लाने की साजिश हो रही है। समाजवादी किसी का हक छीनना नहीं चाहते हैं। पर यह जरूर चाहते हैं कि आबादी के हिसाब से आरक्षण हो। केन्द्र जाति जनगणना कराकर तय कर सकता है कि किसकी कितनी भागीदारी रखी जाए। 

उन्होंने कहा कि जिन्होंने गुमराह किया उनसे सावधान रहना हैं। हमने काम के आधार पर वोट मांगा तो उन्होंने बहका दिया लेकिन जो काम हम कर सकते हैं उसे वर्तमान मुख्यमंत्री नहीं कर सकते है। हम एक्सप्रेस-वे बना सकते हैं। मेट्रो चला सकते हैं। उनकी तरह टोटका नहीं कर सकते।  

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि कर्पूरी ठाकुर ने ईमानदारी और सच्चाई के रास्ते पर चलकर जो ऊँचाई हासिल की उससे हमें प्रेरणा लेनी चाहिए। उन्होंने  कहा कि सविता समाज संगठन को मजबूत करें। आने वाले समय में सविता समाज को सम्मान और चुनाव में टिकट मिलेगा। लेकिन सत्तासीन दल की चालों से इस समाज को सावधान रहना है। समाजवादी सरकार ने कर्पूरी ठाकुर की जयंती पर सार्वजनिक अवकाश की घोषणा की थी। उनके नाम पर शिक्षा संस्था भी बनाएंगे।

कार्यक्रम में  पयरव मंत्री अहमद हसन, रामगोविन्द चौधरी, नरेश उत्तम पटेल, राजेंद्र चौधरी, और एम.एल.सी. एसआरएस यादव, अरविन्द कुमार सिंह सहित पार्टी के कई वरिष्ठ नेता मौजूद रहे।

अधिक राज्य की खबरें