राममंदिर मुद्दा चुनाव जीतने के लिए बीजेपी को ओछी साजिश : डॉ मसूद अहमद
RLD Logo


लखनऊ, राष्ट्रीय लोकदल के प्रदेशाध्यक्ष  डाॅ0 मसूद अहमद ने कहा कि भाजपा राम मंदिर के बहाने लोगो का ध्यान देश की मूल समस्यों जैसे मंहगाई, पेट्रोल और डीजल की बढती हुयी कीमते से हटाना चाहती है। उन्होंने कहा कि भाजपा और उसका शीर्ष नेतृत्व एक सुनियोजित रणनीति के तहत इन दिनों राम मंदिर के मुद्दे को हवा देने में लगा हुआ है क्योंकि वर्तमान में गुजरात का चुनाव और इसके बाद अन्य प्रदेषों के चुनाव तथा 2019 में लगभग 1 वर्ष बाद लोकसभा के चुनाव सम्पन्न होने हैं। 

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह जानबूझकर जनता मूल मुद्दों से हटाकर राम मंदिर के मुद्दे पर केंद्रित कराना चाहते है ताकि ये सभी चुनाव आस्था के दम पर निकाल ले जाये। 

प्रदेशाध्यक्ष ने कहा कि उ0प्र0 में धान के क्रय केन्द्रों पर किसानों का शोषण और बिचैलियों का पोषण हो रहा है। आलू किसानों की स्थिति बदतर होती चली गयी है। प्रदेष का मजदूर वर्ग उद्योग धन्धों के बंद होने तथा भवन निर्माण सामग्री की मंहगाई के कारण काम की तलाश में भटक रहा है और अपने अपने परिवारों के लिए दो वक्त की रोटी जुटाने के लिए मारा मारा फिर रहा है परन्तु प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ गुजरात जाकर मन्दिर मस्जिद मुददा भुनाने में लगे हैं। 

उन्होंने कहा कि प्रदेश में चारों तरफ स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्याएं फैली हुयी हैं जिनमें गोरखपुर तथा प्रदेष की राजधानी लखनऊ का नाम सबसे ऊपर है। सरकारी अस्पतालों में इलाज कराना दिन प्रतिदिन मंहगा होता जा रहा है और सुविधाओं के नाम पर हीलाहवाली की जाती है। कानून व्यवस्था के नाम पर यह कह देना काफी नहीं है कि अपराधियों की जगह जेल में है। वास्तविक धरातल पर भी प्रदेष की जनता कुछ देखनी की इच्छा रखती है जिसका सम्मान होना चाहिए। 

अधिक राज्य की खबरें