सोनी हत्याकांड में योगी सरकार पर हलवार हुई सपा, कहा दिखावा है बीजेपी का ‘बेटी बचाओं, बेटी पढ़ाओं‘ नारा, पीड़ित परिवार को दिया 5 लाख का चेक
Sp Leaders Press Confrence


लखनऊ, समाजवादी पार्टी ने जनपद शामली के थाना कांधला अंतर्गत गढ़ी श्याम में कक्षा 12 की छात्रा कु.सोनी कश्यप की ह्त्या के मामले में आज पीड़ित परिवार को 5 लाख रूपए का चेक भेंट किया गया। इस मौके पर आयोजित एक संवाददाता सम्मलेन में सपा के राष्ट्रीय सचिव राजेंद्र चौधरी व प्रदेशध्यक्ष नरेश उत्तम ने राज्य की योगी आदित्यनाथ वाली भाजपा सरकार पर जमकर हमले किये.  दोनों नेताओं ने कहा योगी के नेत्रत्व वाली भाजपा सरकार राज्य में कन्नू व्यवस्था नियंत्रित करने में असफल है. हर तरफ डर व भय का वातावरण है और पूरे राज्य अपराध व अपराधियों का बोलबाला. 

उन्होंने कहा कि आज स्थिति ये हो गयी कि बच्चियां स्कूल जाने में भी खुद असुरक्षित समझ रही है. हर तरफ  महिलाओं व बच्चियों की इज्जत के साथ खिलवाड़ हो रहा है और ये सरकार चैन की बाशी बजा रही है. 

दोनों नेताओं ने कहा कि ‘बेटी बचाओं, बेटी पढ़ाओं‘ का नारा भी  बीजेपी के अन्य झूठों जैसा ही एक सफ़ेद झूठ है और इसका पुख्ता प्रमाण हैं प्रदेश में महिलाओं और बच्चियों के प्रति बढ़ रहे अपराध. उन्होंने कहा कि ‘बेटी बचाओं, बेटी पढ़ाओं‘ का नारा देने वाली बीजेपी बताएं कि बेटी बचेगी कहां जब पढ़ने जाते वक्त वो दुष्कर्म का शिकार हो जाती हैं। दलित वंचित और खासकर गरीब परिवारों की बच्चियों की जिंदगी दुराचारियों ने नर्क कर दी है जिससे क्षुब्ध कई किशोरियां आत्महत्या तक कर चुकी है।

जनपद शामली के थाना कांधला अंतर्गत गढ़ी श्याम में कक्षा 12 की छात्रा कु. सोनी कश्यप की ह्त्या के ममाले की जमाकारी देते हुए प्रदेशध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल ने कहा कि भाजपा राज में ये शर्मनाक घटना 13 दिसम्बर 2017 को घटी जब स्थानीय इंटरकालेज में कक्षा 12 की छात्रा कुमारी सोनी कश्यप पुुत्र वीरसेन कश्यप की निर्मम हत्या गांव के ही दबंग अमरपाल पुत्र पहलू सिंह ने अपने साथियों के साथ कर दी। घटना दिन दहाड़े 03ः15 बजे हुई जब कु0 सोनी कालेज से घर आ रही थी। कुमारी सोनी को हत्यारोपी अमरपाल बुरी नीयत से छेड़छाड़  करता रहा था। उसकी शिकायत भी हुई परन्तु थाने के मुंशी ने दबाव बनाकर समझौता करा दिया था। अमरपाल दबंग किस्म का है।

उन्होंने कहा कि पुलिस की साठगांठ की वजह से कुमारी सोनी के शव का रात में ही पोस्टमार्टम कराकर सुबह जल्दी अन्तिम संस्कार करा दिया गया। पुलिस ने पहले प्रेम प्रसंग बताकर पल्ला झाड़ना चाहा। समाजवादी पार्टी के विधायक और नेताओं के दबाव में अमरपाल गिरफ्तार किया गया।

उन्होंने कहा कि जब इस घटना की जानकारी सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को हुई तो उन्होंने तत्काल 5 सदस्यों का एक जांच दल गठित किया. जांचदल में विधायक सदर सहारनपुर  संजय गर्ग, विधायक कैराना, शामली नाहिद हसन, पूर्व सदस्य, राज्य योजना आयोग सुधीर पवार, पूर्व उपाध्यक्ष, समाज कल्याण विभाग सुधाकर सिंह कश्यप तथा जिलाध्यक्ष समाजवादी पार्टी, शामली अशोक चैधरी शामिल थे। सपा के जांच दल के गठन के बा ही स्थानीय प्रशासन होश में आया. 

उत्तम में कहा कि सपा के जाँच दल के विगत 6 जवनरी को चार घंटे तक हत्या के हर बिन्दु पर जांच की कश्यप परिवार पर दबंगो-पुलिस का दबाव पड़ रहा है। हत्याकांड की चश्मदीद चचेरी बहन काजल ने बताया कि वह खौफजदा है उसने विद्यालय जाना भी छोड़ दिया है।

वही सपा राष्ट्रीय सचिव राजेंद्र चौधरी ने बताया कि कुमारी सोनी की हत्या पर जब समाजवादी दल के नेता उसके परिवार के साथ खड़े हुए तो भाजपा सांसद हुकुमसिंह अधिकारियों के साथ गांव गढ़ी श्याम पहुंचे और पीड़ित परिवार को 5 लाख रूपए का चेक दिया। बाद में उस चेक को बदल कर दूसरा चेक दिया गया। पीड़ित परिवार ने कहा कि उसे रूपए नहीं इंसाफ चाहिए। उन्होंने कहा कि जांचदल को पीड़ित परिवार के एक सदस्य सेठपाल (चाचा) ने बताया कि भाजपा सांसद के एक निकटवर्ती भाजपा नेता ने न्याय दिलाने के लिए धरना प्रदर्शन, पोस्टर व मीडिया पर खर्च के लिए 60 हजार रूपए मांगे। परिवार ने उन्हें एक दुधारू भैंस व एक कटरा मात्र 40 हजार रूपए में बेचकर दिए। कोरे कागज पर अंगूठा निशान भी लगवाया गया। भाजपा ने यह कफन खसौटी का काम किया है।  

उन्होंने कहा कि भाजपा के ढोंग और संवेदनहीनता का नमूना यह है कि मुख्यमंत्री योगी घटनास्थल पर कु. सोनी कश्यप के पीड़ित परिवारीजनों से मिलने नहीं जा सके जबकि वे वहां से आगे 12 किलोमीटर पर जनता को ‘प्रवचन‘ सुनाने गए थे। प्रदेश व केंद्र सरकार की बेटी की सरुक्षा को लेकर 'दिखाऊ चिंता' इससे जाहिर होती है। उन्होंने कहा कि कुमारी सोनी की हत्या और शासन प्रशासन की उपेक्षा से पूरा पश्चिमी उत्तर प्रदेश आहत और आंदोलित है। पुलिस का रवैया बहुत ही गैरजिम्मेदाराना है। घटना को छुपाने -दबाने की कोशिशें न सिर्फ निंदनीय है बल्कि घटना को हल्का करने और अपराध पर पर्दा डालने की भी साज़िश है। 

सपा नेताओं ने कहा कि समाजवादी पार्टी कश्यप परिवार को इंसाफ व सुरक्षा दिलाने के लिए प्रतिबद्ध है। सपा नेताओं ने मांग की कि आरोपियों पर रासुका व पास्को एक्ट लगाया जाये साथ पीड़ित परिवार को मुकदमा निस्तारण होने तक स्थायी सुरक्षा मिले। इसके साथ ही पीड़ित परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाए। पीड़ित परिवार को कृषि योग्य पट्टा और जिले में सरकारी आवास मिले।  पीड़ित परिवार को 25 लाख रूपए की आर्थिक मदद दी जाए। 
 
इस मौके पर मृतका सोनी कश्यप का पूरा परिवार सपा कार्यालय में मौजूदा था.  मृतक के पिता वीरसेन कश्यप, सोनी की मां और उसकी चचेरी बहन काजल ने कहा कि वे सब दहशत में जी रहे हैं। गांव में रहने की उनकी हिम्मत नहीं हो रही है वे गांव से पलायन करने को मजबूर है उनकी सुरक्षा की कोई व्यवस्था नहीं है। दबंग और पुलिस अपना दबाव बनाए हुए हैं। उन्होंने कहा कि हमें इंसाफ चाहिए। 

अधिक राज्य की खबरें

फिर अखिलेश के साथ मंच पर दिखे मुलायम सिंह यादव कहा – बीजेपी ने जनता को धोखा दिया, अखिलेश के कामों से मिलेगा ‘वोट’ ..

देश के पूर्व रक्षा मंत्री और समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने आज सपा मुखिया ......