BJP ने सपा और बसपा के इन बागियों को दे ही दिया 'रिटर्न गिफ्ट'
मएलसी बुक्कल नवाब, यशवंत सिंह और ठाकुर जयवीर सिंह की फाइल फोटो


लखनऊ, भारतीय जनता पार्टी ने आखिरकार विधान परिषद चुनाव के बहाने समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के बागियों को रिटर्न गिफ्ट दे ही दिया. पार्टी ने रविवार को जारी विधानपरिषद चुनाव के प्रत्याशियों की सूची में 10 में से 4 नाम सपा और बसपा छोड़कर आए नेताओं के शामिल किए हैं. समाजवादी पार्टी से बीजेपी पहुंचे सरोजनी अग्रवाल, बुक्कल नवाब, यशवंत सिंह के अलावा बसपा से आए जयवीर सिंह का नाम शामिल है. ये सभी विधान परिषद सदस्य थे. उस समय इन इस्तीफों से बीजेपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और डिप्टी सीएम केशव मौर्य व दिनेश शर्मा के साथ मंत्री मोहसिन रजा के लिए विधानपरिषद की राहें आसान हुई थीं.

समाजवादी पार्टी से एमएलसी बुक्कल नवाब ने पार्टी से इस्तीफा देने की शुरुआत की थी. उनके अलावा एमएलसी यशवंत सिंह ने भी इस्तीफा दे दिया था.  इसके बाद बसपा के एमएलसी जयवीर सिंह ने भी इस्तीफा दिया और बीजेपी के पाले में आ गए थे.

सरोजनी अग्रवाल को आजम खान का करीबी माना जाता था, लेकिन पिछले साल उन्होंने सपा को चौंकाते हुए बीजेपी का दामन थाम लिया था. कहा जाता है कि आजम खान ने ही उन्हें एमएलसी बनवाया था, जबकि अखिलेश सरकार में मंत्री रहे मेरठ के ही शाहिद मंजूर सरोजनी के एमएलसी बनाए जाने के खिलाफ थे. लेकिन आजम की जिद पर उन्हें एमएलसी बनाया गया था.

इस्तीफे के बाद बुक्कल नवाब ने कहा था कि पिछले एक साल से मुझे बहुत घुटन महसूस हो रही थी. उन्होंने समाजवादी पार्टी को समाजवादी अखाड़ा बताया. साथ ही अखिलेश पर निशाना साधते हुए कहा कि जब वह अपने पिता के साथ नहीं है, तो वह किसके साथ हो सकते हैं.


अधिक राज्य की खबरें

सपा पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ की बैठक में बोले नेता – बीजेपी कर रही पिछड़ों का उत्पीडन ..

समाजवादी पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ, उ0प्र0 की नवगठित राज्य कार्यकारिणी की बैठक आज प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष दयाराम ......

गोपाल दास नीरज के निधन पर सपा ने जताया शोक, बोले अखिलेश – नीरज का निधन हिंदी जगत पर वज्रपात है ..

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने पद्म भूषण एवं यश भारती से ......