गोकशी के आरोप में हुई हत्या मामले में 32 पर केस, दो गिरफ्तार
एएसपी राममोहन सिंह ने बताया कि गोकशी का मामला गलत है।


हापुड़ : पश्चिमी यूपी में हापुड़ जिले के पिलखुवा क्षेत्र में गोकशी के आरोप में हुई कासिम की कथित हत्या के मामले में पुलिस ने 32 लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर धड़पकड़ शुरू कर दी है। पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है, जबकि पांच की शिनाख्त कर गिरफ्तारी के प्रयास शुरू कर दिए गए हैं। गिरफ्तारी के डर से गांव में घटनास्थल पर मौजूद रहे युवक गांव से बाहर चले गए हैं। 

इस बीच पूरे इलाके में पुलिस बल तैनात कर दिया है। कासिम की हत्या के बाद से गांव बझैड़ा खुर्द और मोहल्ला सद्दीकपुरा में तनाव का माहौल है। सुरक्षा के मद्देनजर भारी पुलिस बल तैनात किया गया है। इसके कारण मंगलवार को वहां पूरे दिन सन्नाटा पसरा रहा। पुलिस ने गांव के दो लोगों को हिरासत में लेकर कोर्ट में पेश किया, जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया। 

गोकशी का मामला गलत: पुलिस 
सोमवार को मारपीट में घायल समयुद्दीन के भाई यासीन की ओर से बझैड़ा खुर्द गांव निवासी 30-32 अज्ञात लोगों के खिलाफ कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी। एएसपी राममोहन सिंह ने बताया कि गोकशी का मामला गलत है। मामूली बात पर दोनों पक्षों में विवाद हुआ था, जिसमें अत्यधिक पिटाई के कारण कासिम की इलाज के दौरान मौत हो गई थी। 

डीएसपी पिलखुवा पवन कुमार सिंह ने बताया कि गांव बझैड़ा खुर्द निवासी युधिष्ठिर सिसोदिया और राकेश सिसोदिया को गिरफ्तार कर लिया गया है। इसके अलावा पांच लोगों की और पहचान कर ली गई है, जिनकी गिरफ्तारी जल्द ही की जाएगी। गांव में शांति-व्यवस्था बनाए रखने के लिए पिलखुवा और धौलाना पुलिस के अलावा पीएसी की एक बटालियन भी तैनात की गई है। मंगलवार को भारी पुलिस सुरक्षा के बीच कासिम के शव को सुपुर्द-ए-खाक कर दिया गया। 

अधिक राज्य की खबरें