सिपाही भर्ती 2018 में बड़ा फैसला, दस लाख अभ्यर्थियों को दोबारा देनी होगी परीक्षा
File Photo


लखनऊ, सिपाही भर्ती 2018 के तहत 18 और 19 जून को हुई दूसरी पाली की ऑफलाइन परीक्षा निरस्त कर दी गई है. जिसके बाद 10 लाख अभ्यर्थियों को अब दोबारा परीक्षा देनी होगी. दरअसल, इलाहाबाद और एटा के एक-एक सेंटर पर पेपर बदले गए थे. जिसके बाद यह फैसला लिया गया है.

इलाहाबाद के परीक्षा केंद्र गुरु माधव प्रसाद इंटर कॉलेज और एटा के श्री पीपीएस कॉलेज को ब्लैक लिस्ट कर दिया गया है. साथ ही इन दोनों केन्द्रों पर ड्यूटी के लिए तैनात कर्मियों के खिलाफ केस भी दर्ज होगा. परीक्षा आयोजित कराने वाली कंपनी टीसीएस ने ड्यूटी पर लगाए सभी कर्मियों को निलंबित भी कर दिया है.

प्रमुख सचिव गृह अरविंद कुमार ने बताया कि परीक्षा के दो-तीन दिन बाद सूचना मिली थी कि 18 व 19 जून को दोनों परियों में हुई परीक्षा में जो प्रश्न पत्र बांटे गए थे उनमें कोई अंतर नहीं था. पुलिस भर्ती बोर्ड ने परीक्षा आयोजित कराने वाली संस्था टीसीएस से जवाब तलब किया है.

वहीं मामले में भर्ती बोर्ड ने डीजीपी मुख्यालय को पत्र लिखकर संबंधित जिले के एएसपी से स्पष्टीकरण मांगने की बात कही है. साथ ही दोनों सेंटर पर पोलिएक पर्यवेक्षक के तौर पर तैनात इंस्पेक्टरों को निलंबित कर विभागीय कार्रवाई की रिपोर्ट मांगी गई है.

बता दें 18 व 19 जून को नागरिक पुलिस में पुरुष व महिला सिपाही और पीएसी में पुरुष सिपाही के पदों पर सीधी भर्ती 2018 की ऑफलाइन लिखित परीक्षा प्रदेश के 860 केंद्रों पर कराई गई थी. 41, 500 पदों के लिए लिखित परीक्षा में गलत प्रश्न पत्र बांटे गए.


अधिक राज्य की खबरें