बीजेपी के खिलाफ अखिलेश यादव यहाँ से शुरू करेंगे अपनी पहली ‘साईकिल यात्रा’, ये होगा यात्रा का पूरा रूट
File Photo


लखनऊ, पिछले दिनों छोटे लोहिया यानि जनेश्वर मिश्र की जयंती पर सपा मुखिया अखिलेश यादब ने बीजेपी की जातिवादी, धर्मवादी, विकास विरोधी चरित्र के खिलाफ पूरे प्रदेश में साईकिल यात्रा का निकालने का ऐलान किया था. आज समाजवादी पार्टी के तरफ से उनकी साईकिल यात्रा का पहला कार्यक्रम आ गया है. सपा मुखिया की पहली साईकिल यात्रा कन्नौज के ठठियामण्डी से शुरू होगी जो लगभग 50 किलोमीटर की यात्रा तय करने के बाद आगरा लखनऊ एक्सप्रेस-वे की हवाईपट्टी पर समाप्त होगी. अखिलेश की साईकिल यात्रा को हरी झंडी खजांची परिवार दिखायेगा. यही परिवार यात्रा के समापन पर भी मौजूद रहेगा.  सनद रहे कि खजांची वही बच्चा है जो नोटबंदी के दौरान बैंक में पैदा हुआ था. तत्कालीन  मुख्यमंत्री श्री यादव ने नवजात का नाम खजांची रखा था।

इस विषय पर विस्तृत जानकारी देते हुए सपा के प्रदेश प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने कहा कि अखिलेश यादव साइकिल यात्रा के माध्यम से प्रदेश में सघन जनसम्पर्क करेंगे। वे गरीबो, नौजवानों, महिलाओं, व्यापारियों और अधिवक्ताओं तक समाजवादी पार्टी का संदेश पहुंचाएंगे और उनकी समस्याओं से अवगत होंगे। यह यात्रा जन जागरण की एक नई भूमिका में होगी। स्मरणीय है, वर्ष 2012 में श्री अखिलेश यादव ने साइकिल यात्राओं के जरिए ही प्रदेश में राजनीतिक परिवर्तन की हवा बहाई थी। प्रदेश में तब सत्ता परिवर्तन हो गया था। 

चौधरी ने कहा कि भाजपा का सम्पर्क समर्थन अभियान केवल विशिष्ट लोगों से सम्पर्क तक सीमित रहा है। यह जनता की आंख में धूल झोंकने का काम है। वैसे भी भाजपा का गांव-गरीब और जनसाधारण से कोई वास्ता नहीं रहता है। उनके लिए तो कारपोरेट दुनिया ही सब कुछ है। भाजपा वह पार्टी है जो अपने वादों के प्रति ईमानदार नहीं रहती है। प्रधानमंत्री जी ने गंगा मां का बहुत नाम जपा था। आज तक वाराणसी में गंगा निर्मल नहीं हो पाई। 

उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार द्वारा किसानों की कर्जमाफी का वादा धोखा साबित हुआ। कर्ज और प्रकृति की मार से परेशान किसान आत्महत्या कर रहा है। किसानों की आमदनी बढ़ाने के लिए मंडियों की व्यवस्था समाजवादी सरकार ने की थी, उस काम को भी रोक दिया गया है। युवा कुंठित है उनको दो करोड़ नौकरी देने का वादा किया गया था। भाजपा की केन्द्र और राज्य सरकार ने नौजवानों के सपनों को तोड़ा है। नौजवान दर-दर की ठोकरें खा रहा है। उसका भविष्य अंधकार में है। महिलाएं असुरक्षित हैं। बच्चियों से दुष्कर्म की घटनाएं बढ़ी हैं। जनता मंहगाई से त्राहि-त्राहि कर रही है। लोग परेशान हैं। प्रदेश में कानून-व्यवस्था का भारी संकट है। अपराधी भयमुक्त हैं और कानून का पालन करने वाला भयभीत है। हर तरफ अराजकता का माहौल है। बिजली संकट से लोग परेशान हैं। भाजपा ने जनहित के सभी काम रोक दिए हैं। भाजपा से लोकतंत्र को भारी खतरा है। भाजपा शासन में सामाजिक सद्भाव साम्प्रदायिकता की राजनीति का शिकार है। समाज में नफरत फैलाने की राजनीति भाजपा की देन है। समाज में तनाव व्याप्त है और इससे सौहार्द तथा सहयोग की भावना को आघात लगा हैं।  

अखिलेश यादव की साइकिल यात्रा में इन समस्याओं पर चर्चा होगी और जनता से सीधा संवाद होगा। भाजपा ने प्रदेश की जो दुर्दशा की है, उससे निस्तारण सन् 2019 के चुनाव में स्वयं जनता करेगी। साइकिल यात्रा के अभियान से लोकतंत्र सामाजिक सद्भाव और समानता की ताकतों को बल मिलेगा।

अधिक राज्य की खबरें

विजयादशमी के दिन क्यों खास है गोरक्षपीठाधीश्वर के रूप में CM योगी की विजय शोभा यात्रा..

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ दशहरे के दिन गोरक्षपीठाधीश्वर के रूप में अंधियारीबाग रामलीला मैदान में पहुंचकर भगवान राम ......

विजयवर्गीय ने राहुल की तुलना रावण से की, कांग्रेस ने कहा- अच्छे अस्पताल में कराएं इलाज..

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व सांसद प्रमोद तिवारी ने बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय द्वारा कांग्रेस अध्यक्ष ......