यूपी के 5 शहरों में 'वैचारिक कुंभ' लगाकर BJP साधेगी 2019 चुनाव का लक्ष्य
File Photo


आगामी लोकसभा चुनाव 2019 की तैयारियों में सभी राजनीतिक पार्टियां जुट गई हैं. इसी कड़ी में भारतीय जनता पार्टी एक बार फिर 2014 जैसा इतिहास दोहराना चाहती है, इसलिए तैयारियां तेज हो गई हैं. इस कड़ी में बीजेपी पांच बड़े शहरों में वैचारिक कुंभ बुलाने की तैयारी कर रही है. बीजेपी अयोध्या, काशी, मथुरा, प्रयागराज और लखनऊ में वैचारिक कुंभ का आयोजन करेगी. इसके जरिये जहां एक तरफ बीजेपी धार्मिक, वैज्ञानिक और सामाजिक महत्व के बारे में समाज को जागृति करेगी. वहीं  जनता के और करीब होकर लोकसभा चुनाव 2019 के लक्ष्य को साधेंगी.

बताया जा रहा है कि कुछ नई थीम के साथ नवंबर 2018 से जनवरी 2019 तक इन पांच वैचारिक कुंभ का आयोजन यूपी में किया जाएगा. यूपी सरकार के राज्य मंत्री डॉ. नीलकंठ तिवारी ने बताया कि भारत में कुंभ की रचना सामाजिक आर्थिक और सभी पहलुओं को लेकर हुई थी. वर्तमान में केवल इसको धार्मिक पक्ष ही मान लिया गया. उन्होंने बताया कि कुंभ का मतलब केवल स्नान ही नहीं है. डॉ. नीलकंठ तिवारी ने बताया कि कुंभ के महत्व को बढ़ावा देने के लिए वैचारिक कुंभ का आयोजन किया जा रहा है.

योगी सरकार में सूचना राज्यमंत्री की मानें तो एक दिसंबर को काशी में पर्यावरण कुंभ, लखनऊ में युवा कुंभ, अयोध्या में सामाजिक समरसता कुंभ, वृंदावन मथुरा में महिला-मातृ शक्ति कुंभ और प्रयाग में सर्व समावेशी भारतीय दर्शन कुंभ का आयोजन होगा. उन्होंने बताया कि इस कार्यक्रम में सीएम योगी आदित्यनाथ समेत बीजेपी के कई वरिष्ठ नेता शामिल होंगे. मंत्री डॉ. नीलकंठ तिवारी ने बताया कि कुंभ करने के पीछे मकसद साफ है कि समाज के सभी पक्षों को एक मंच के माध्यम से वैचारिक संदेश देना हैं. वहीं वैचारिक कुंभ के दौरान दो लाख लोगों को नि: शुल्क आंखों की जांच के बाद उन्हें चश्मा प्रदान किया जाएगा.

बता दें कि बीजेपी ने 2014 के लोकसभा चुनाव में यूपी की 80 संसदीय सीटों में से 71 जीती थी. जबकि दो सीटें उसके सहयोगी 'अपना दल' को मिली थीं. इस तरह बीजेपी गठबंधन ने 73 सीटें हासिल की थीं. इसी कड़ी में 2017 के विधानसभा चुनाव में राज्य की 403 सीटों में से एनडीए ने 325 सीटों पर जीत हासिल की थी.

अधिक राज्य की खबरें